Categories
News Other

गुटखा और पान मसाले के शौकीनों के लिए सबसे बुरी खबर, सख्त कदम उठाने जा रही है सरकार

खबरें

लॉकडाउन 5.0 के दौरान गुटखा, पान और तंबाकू पर से रोक हटाने का मामला अब राजस्थान सरकार के लिए ही सिरदर्द साबित हो रहा है। सार्वजनिक स्थानों और जगह-जगह पान, गुटखे और तंबाकू की पीक थूकने की लगातार शिकायतें मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और मुख्य सचिव डीबी गुप्ता तक पहुंच रही हैं, जिसके बाद सरकार अपने इस फैसले पर पुर्नविचार कर रही है। सूत्रों की मानें तो सरकार लॉकडाउन 5.0 के लिए जारी की गई गाइड लाइन में बदलाव कर गुटखा, तंबाकू और पान के सेवन पर फिर रोक लगा सकती है।

जानकारी के अनुसार, सरकार के पास लॉकडाउन 5.0 की गाइड लाइन की अवहेलना करने की शिकायतें पहुंच रही हैं। उनमें सबसे ज्यादा शिकायतें मास्क नहीं लगाने और गुटखा, पान, तंबाकू का सेवन कर सार्वजनिक स्थानों पर थूकने की शिकायतें ज्यादा हैं। पुलिस के अलावा कई सामाजिक संगठनों ने भी इस तरह की शिकायत मुख्य सचिव डीबी गुप्ता को भेजी है। इसमें कहा गया है कि लोग गुटखा, तंबाकू और पान का सेवन कर जगह-जगह थूक रहे हैं, जिससे संक्रमण का खतरा बढ़ रहा है। बताया जा रहा है कि पान, गुटखा तंबाकू पर रोक लगाने की चर्चा लॉकडाउन 5.0 की गाइल लाइन को लेकर होने वाली समीक्षा बैठक में भी हो सकती है। मुख्य सचिव प्रदेश भर से इस तरह की शिकायतों का फीडबैक ले रहे हैं और उसके बाद एक रिपोर्ट बनाकर मुख्यमंत्री को सौंपेंगे।

वहीं गाइड लाइन के मुताबिक प्रत्येक व्यक्ति को मास्क लगाना अनिवार्य हैं, लेकिन बड़ी संख्या में सरकार के पास मास्क नहीं लगाने की शिकायतें भी पहुंच रही है। इसके बाद सरकार मास्क नहीं लगाने पर भारी जुर्माने का प्रावधान कर सकती है। सरकार का मानना है कि सख्ती करने का उद्देश्य पैसे वसूल ना नहीं है, लोगों को अपने स्वास्थ्य के प्रति गंभीर करना है। गौरतलब है कि लॉकडाउन 5.0 के दौरान मास्क अनिवार्य रूप से लगाने और पान मसाला-गुटखा खाने वाले लोगों को जगह-जगह नहीं थूकने के निर्देश दिए गए थे। ऐसा नहीं करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की बात कही गई थी।