Categories
Other

खुशखबरी-: हरिद्वार में कुंभ को लेकर आ गई बड़ी खुशखबरी, जानकर झूम उठेंगे आप…..

आस्था

अब हरिद्वार कुंभ में आने के लिए कोरो’ना की निगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य नहीं होगी। लेकिन कोविड-19 नियमों का सख्ती से पालन करना होगा। यह कहना है उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का। वह शनिवार को पत्रकारों से बात कर रहे थे। वहीं उन्होंने कहा कि देवस्थानम बोर्ड और गैरसैंण को मंडल बनाने के फैसले पर भी विचार किया जाएगा।

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि 12 सालों के बाद होने वाला महाकुंभ श्रद्धा और भावनाओं से जुड़ा है। जिसमें देश दुनिया के करोड़ों श्रद्धालुओं की गंगा के प्रति आस्था रहती है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि कुंभ के लिए पर्याप्त बसों का इंतजाम किया जाए। वहीं, कुंभ क्षेत्र की सड़कों की मरम्मत व साफ सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाए।

शनिवार को सीएम आवास स्थित कार्यालय में मुख्यमंत्री ने उच्च अधिकारियों के साथ कुंभ मेले की व्यवस्थाओं की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि कुंभ स्नान के लिए आने वाले श्रद्धालु बिना किसी असुविधा के सुखद संदेश लेकर जाएं। यह सबका दायित्व है। इसके लिए सभी अधिकारी आपसी समन्वय व समय सीमा के साथ व्यवस्थाओं को पूरा करें।

शंकराचार्यों व अखाड़ों को भूमि उपलब्ध कराई जाए
सीएम ने निर्देश दिए कि कुंभ क्षेत्र की सड़कों की मरम्मत के साथ ही सड़कों पर पड़ी निर्माण सामग्री को तुरंत हटाया जाए। कुंभ मेला क्षेत्र को स्वच्छ व सुंदर बनाने के लिए सफाई निरीक्षकों और कार्मिकों की तैनाती की जाए। मेले में आने वाले शंकराचार्यों व अखाड़ों को भूमि उपलब्ध कराने के साथ उन क्षेत्रों में आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराई जाए।

उन्होंने कुंभ मेले की व्यवस्थाओं के लिए अतिरिक्त अधिकारियों की तैनाती शीघ्र करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने मेले के लिए अतिरिक्त व्यवस्थाओं का प्रस्ताव दो दिन के भीतर शासन को उपलब्ध कराने को कहा है।

बैठक में मुख्य सचिव ओम प्रकाश, पु’लिस महानिदेशक अशोक कुमार, प्रमुख सचिव आनंद वर्द्धन, आरके सुधांशु, सचिव अमित नेगी, शैलेश बगोली, नितेश झा, राधिका झा, दिलीप जावलकर, सौजन्या, आयुक्त गढ़वाल रविनाथ रमन, सूचना महानिदेशक डॉ. मेहरबान सिंह बिष्ट के अलावा वीडियो कांफ्रेंसिंग से हरिद्वार, देहरादून, टिहरी व पौड़ी जिला के डीएम जुड़े थे।