Categories
ज्योतिष

शुक्र ग्रह यदि कुंडली में दे रहा है खराब परिणाम तो करें यह उपाय

वृषभ और तुला राशि के स्वामी शुक्र को कन्या में नीच और मीन में उच्च का माना गया है। इसके बुध, शनि और केतु मित्र हैं। सूर्य व चन्द्र शुत्र हैं। मंगल, गुरु और राहु सम हैं और सप्तम भाव इसका पक्का घर है। लाल किताब में शत्रु और मित्र कुंडली की स्थिति के अनुसार होते हैं। लाल किताब के अनुसार यहां प्रस्तुत हैं शुक्र को शुभ करने के खाने अनुसार उपाय।

शुक्र के अशुभ होने की निशानी –

  • यदि शनि मंदा अर्थात नीच का हो तब भी शुक्र का बुरा असर होता है।
  • अंगूठे में दर्द का बना रहना या बिना रोग के ही अंगूठा बेकार हो जाता है।
  • गुप्त रोग, पत्नी से अनावश्यक कलह शुक्र खराब होने की निशानी है।
  • शुक्र के साथ राहु का होना अर्थात स्त्री तथा दौलत का असर खत्म।

सावधानी

  • पत्नी का सम्मान करें और पराई स्त्री से दूर रहें
  • स्वयं और घर को साफ-सुथरा रखें और हमेशा साफ सफेदकपड़े पहनें।
  • नित्य नहाएं।
  • शरीर को जरा भी गंदा न रखें।
  • सुगंधित इत्र या सेंट का उपयोग करें।
  • पवित्र बने रहें।

उपाय

  • लक्ष्मी माता की उपासना करें।
  • सफेद वस्त्र दान करें।
  • भोजन का कुछ हिस्सा गाय, कौवे और कुत्ते को दें।
  • शुक्रवार का व्रत रखें और उस दिन खटाई न खाएं।
  • दो मोती लेकर एक पानी में बहा दें और एक जिंदगीभर अपने पास रखें।