Categories
धर्म धार्मिक

बसंत पंचमी के दिन भुलकर भी ना करें ये 5 काम नहीं तो हो सकते हों कंगाल जानें😭…..

धार्मिक खबर

नई दिल्ली: हर साल माघ महीने की शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को बसंत पंचमी का त्योहार मनाया जाता है और इस साल बसंत पंचमी (Basant Panchmi) 16 फरवरी 2021 दिन मंगलवार को है. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इसी दिन बह्माजी ने मां सरस्वती (Goddess Saraswati) की उत्पत्ति की थी इसलिए बसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती की पूरे विधि-विधान के साथ पूजा अर्चना की जाती है. मां सरस्वती को ज्ञान की देवी माना जाता और बसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती की पूजा से ज्ञान की प्राप्ति होती है और सभी मनोकामनाएं भी पूरी होती हैं. साथ ही बसंत पंचमी के दिन से भी बसंत ऋतु (Spring Season) का आगमन माना जाता है.   

बसंत पंचमी का शुभ मुहूर्त

हिंदू पंचांग के अनुसार इस साल बसंत पंचमी के त्योहार के मौके पर 2 खास संयोग बन रहे हैं रवि योग और अमृत सिद्ध योग.
बसंत पंचमी तिथि प्रारंभ- 16 फरवरी को सुबह 3.36 बजे से
बसंत पंचमी तिथि समाप्त- 17 फरवरी को सुबह 5.46 बजे पर
बसंत पंचमी पर पूजा का शुभ मुहूर्त- 16 फरवरी मंगलवार को सुबह 11.30 से दिन में 12.30 बजे तक: जैसा कि हमने ऊपर की पंक्तियों में आपको बताया कि बसंत पंचमी के दिन पीले रंग का विशेष महत्व है इसलिए इस दिन रंग-बिरंगे वस्त्र या फिर विशेषकर काले रंग के वस्त्र तो बिलकुल नहीं पहनने चाहिए वरना मां सरस्वती नाराज हो सकती हैं. लिहाजा इस दिन पीले रंग के कपड़े ही पहनने चाहिए.

  • बसंत पंचमी के दिन पेड़-पौधे काटने, फसल काटने या पौधों की छंटाई करने से परहेज करें क्योंकि इस दिन से बसंत ऋतु का आगमन होता है इसलिए इस दिन पेड़ पौधे नहीं काटने चाहिए.

नई दिल्ली: हर साल माघ महीने की शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को बसंत पंचमी का त्योहार मनाया जाता है और इस साल बसंत पंचमी (Basant Panchmi) 16 फरवरी 2021 दिन मंगलवार को है. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इसी दिन बह्माजी ने मां सरस्वती (Goddess Saraswati) की उत्पत्ति की थी इसलिए बसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती की पूरे विधि-विधान के साथ पूजा अर्चना की जाती है. मां सरस्वती को ज्ञान की देवी माना जाता और बसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती की पूजा से ज्ञान की प्राप्ति होती है और सभी मनोकामनाएं भी पूरी होती हैं. साथ ही बसंत पंचमी के दिन से भी बसंत ऋतु (Spring Season) का आगमन माना जाता है.   

बसंत पंचमी का शुभ मुहूर्त

हिंदू पंचांग के अनुसार इस साल बसंत पंचमी के त्योहार के मौके पर 2 खास संयोग बन रहे हैं रवि योग और अमृत सिद्ध योग.
बसंत पंचमी तिथि प्रारंभ- 16 फरवरी को सुबह 3.36 बजे से
बसंत पंचमी तिथि समाप्त- 17 फरवरी को सुबह 5.46 बजे पर
बसंत पंचमी पर पूजा का शुभ मुहूर्त- 16 फरवरी मंगलवार को सुबह 11.30 से दिन में 12.30 बजे तक

जैसा कि हमने ऊपर की पंक्तियों में आपको बताया कि बसंत पंचमी के दिन पीले रंग का विशेष महत्व है इसलिए इस दिन रंग-बिरंगे वस्त्र या फिर विशेषकर काले रंग के वस्त्र तो बिलकुल नहीं पहनने चाहिए वरना मां सरस्वती नाराज हो सकती हैं. लिहाजा इस दिन पीले रंग के कपड़े ही पहनने चाहिए.

– बसंत पंचमी के दिन पेड़-पौधे काटने, फसल काटने या पौधों की छंटाई करने से परहेज करें क्योंकि इस दिन से बसंत ऋतु का आगमन होता है इसलिए इस दिन पेड़ पौधे नहीं काटने चाहिए.