Categories
Other

बस करले तुलसी से जुड़े ये दस उपाय, जीवन में कभी नहीं होगी पैसों की कमी💴💵….

धार्मिक ख़बर

तुलसी से जुड़ी इन 10 बातों का रखें ध्यान. धार्मिक तौर पर मानी गई है महत्वपूर्ण

नई दिल्ली। धार्मिक तौर पर तुलसी का पौधा शुभ का प्रतीक माना जाता है। इससे तोड़ते समय कुछ बातों का ध्यान रखने से खास जरूरत होती है। इन सावधानियों को अपनाकर आप कई तरह के नुकसान से बच सकते हैं। तुलसी के पत्तों का इस्तेमाल भगवान विष्णु को भोग लगाने के लिए भी किया जाता है और कहा जाता है कि भगवान विष्णु बिना तुलसी के पत्ते डाले लगाए गए भोग को स्वीकार नहीं करते।

पैसों की समस्या से चाहते हैं छुटकारा, इन 10 उपायों को करने से होगा फायदा

1.तुलसी को शास्त्रों में पूजनीय पौधा माना जाता है और साथ ही इसका इस्तेमाल कई बीमारियों के इलाज में भी किया जाता है।

2.तुलसी के पौधे की पूजा धन की देवी मां लक्ष्मी की पूजा के बराबर मानी गई है क्योंकि तुलसी के पौधे में माता लक्ष्मी निवास करती हैं।

3.शास्त्रों में बताया गया है कि कभी भी तुलसी के पत्तों को नाखूनों से नहीं तोड़ना चाहिए ऐसा करने से आपको दोष लगता है।

4.सूर्यास्त के बाद भी तुलसी के पत्ते नहीं तोड़ने चाहिए माना जाता है कि इस समय देवी तुलसी विश्राम करती हैं।

5.इसके अलावा तुलसी के पत्तों को रविवार के दिन भी तोड़ना गलत होता है इससे आपको नुकसान झेलना पड़ सकता है।

शनि देव की पूजा में अपनाएं ये 10 तरीके, जल्दी दूर होगा शनि दोष साथ ही होगी धन प्राप्ति

6.रविवार को पौधे में जल भी नहीं चढ़ाना चाहिए और ना ही पूजा करनी चाहिए। इस दिन यह सब भी करना निषेध होता है।

7.तुलसी के पत्तों को कभी भी चबाकर नहीं खाना चाहिए इससे भी आर्थिक तौर पर समस्याएं झेलनी पड़ सकती हैं।

8.तुलसी के पौधे से जो पत्ते सूखकर टूट जाते हैं उन्हे कूड़े में नहीं फेंकना चाहिए इसकी बजाए इन्हे मिट्टी में दबा दें या फिर नदी में प्रवाहित कर दें।

9.भगवान शंकर की पूजा में तुलसी के पत्तों का इस्तेमाल ना करें शास्त्रों में ऐसा करना निषेध बताया गया है।

10.अमावस्या, चतुर्दशी और द्वादशी की तिथि पर भी तुलसी के पत्तों को तोड़ना बुरा माना जाता है इसलिए ऐसा करने से बचना चाहिए।