Categories
धर्म

अगर आप को मिलने लगे है ये संकेत, तो आप पर लगने वाली है शनि की साढ़े’साती या ढय्या….

धार्मिक समाचार

1. ज्योति’षशा’स्त्र के अनुसार, शनि महा’राज का रंग काला और नीला बताया गया है। जब शनि’देव अशुभ प्रभाव देते हैं तो उस व्यक्ति के बाल तेजी से गिरने लगते हैं। ऐसे व्य’क्ति को साव’धान हो जाना चाहिए और शनि देव की पूजा और व्रत करना चाहिए ताकि उनका आशी’र्वाद हमेशा बना रहे।

2. शनि जब आप पर भारी होता है, तो बहुत से लोगों के माथे का रंग बद’लने लगता है। माथे का तेज धीरे-धीरे ख’त्म होने लगता है और ल’लाट पर काला’पन नजर आने लगता है। ऐसे व्यक्ति को हर कार्य संभल’कर करना चाहिए क्योंकि उन पर क’लंक लगने का भय रहता है। ऐसे व्यक्ति को अपयश का सामना करना पड़ सकता है और व्य’क्ति सोचता कुछ और होता कुछ है।

3. शनि जब भारी होकर अ’शुभ प्रभाव देता है, तो व्यक्ति को अनै’तिक चीजें करने का मन करता है। उसका शेयर सट्टे में पैसा लगाने का शौक बढ़ जाता है और गलत संगत में आ जाता है। शनि का प्रभाव व्यक्ति की सोच को बदल देता है और वह ऐसे कार्यों को करने लग जाता है, जिनसे उनको आ’र्थिक नुक’सान का सामना करना पड़ता है।

4. शनि जब अशुभ प्रभाव देते हैं, तो परिवार और कारोबार में चीजें खराब होने लगती हैं और कार्य बिगड़ने लगते हैं। साथ ही कारो’बार के स्थान और घर में आग लगने का भय भी बना रहता है, इसलिए अपने व्यवहार में सकारा’त्मक परिव’र्तन लाएं और शनिदेव से प्रार्थना करें।

5. शनिदेव के कुपित होने की स्थिति में व्यक्ति अपने से नीचे तबके के लोगों को अपमा’नित करता है। यदि आपका व्यवहार भी अपने से नीचे काम करने वालों के साथ अच्छा नहीं है, तो आपको शनिदेव के कु’पित होने का भय होना चाहिए।