Categories
धर्म

सूर्य को अ’र्घ्य देते समय रखें इन बातों का खासकर ध्यान!

धर्म समाचार

यह बात हम सभी जानते है उगते हुए सू’र्य को जल चढ़ाने की परं’परा कई सदि’यों से चली आ रही है। यह हम अपने घर में भी बचपन से देखते आ रहे है कि दादी, नानी हर सुबह उगते हुए सूर्य को जल जरूर देती हैं। कहते हैं, सूर्य को जल चढ़ाने से कई तरह के लाभ होते हैं।

शा’स्त्रों के अनुसार, सुबह के समय सूर्य को अर्घ्य देते कुछ ऐसी बातें हैं जिनका खास ध्यान रखना होता है। क्यों’कि अगर सूर्य को अर्घ्य देते हुए ये गल’तियां हो जाती हैं तो भगवान प्रस’न्न होने के बजाय क्रोधित हो जाते हैं। सूर्य को शांति व शालीनता प्रदान करने का प्रतीक माना गया है। इस’लिए सूर्य को जल चढ़ाते हुए कुछ बातों का विशे’ष ध्यान रखना चाहिए क्योंकि जरा सी भी गलती भगवान को नाराज कर सकती है। हर रोज सूर्य को जल चढ़ाने के क्या फायदें हैं, आइए जानते है।

सूर्यदेव को जल चढ़ाने के लिए हर रोज सुबह उठकर स्नान के बाद तांबे के लोटे में जलभर कर, उसमें कुमकुम और चावल मिला’कर सूर्य’देव को जल देना चाहिए। ध्यान रखें यह जल किसी के पैर पर न लगे।

सूर्य को जल देते समय ओम सू’र्याय नम: का जाप करने से बहुत लाभ होता है। ऐसा करने से सूर्य’देव आपकी सारी सम’स्याओं को खत्म कर देते हैं।

जिन लोगों की कुंड’ली में सूर्य कम’जोर हो उन्हें हर रोज सूर्य को जल देना चाहिए। इससे उनका आत्म विश्वा’स मजबूत होता है।

सूर्य को जल देने से समाज में मान-सम्मान और प्रति’ष्ठा में बढ़ो’तरी होती है। सूर्य को जल देते समय अपना मुख पू’र्व दिशा की तरफ रखें।