Categories
Other

बड़ा सर्वे : अॉनलाइन सर्वे में भाजपा को मध्यप्रदेश उपचुनाव में लगा बडा झटका…. नतीजे चौकानें वाले !!

पोल

मध्यप्रदेश में जल्द ही होने वाले उपचुनाव के बीच पंजाब केसरी ने फेसबुक पर ऑनलाइन सर्वे किया है। जनता से ये जानने की कोशिश की है कि वह किसी पसंद करती है। जिसके नतीजे बेहद चौंकाने वाले सामने आए। जी हां, पंजाब केसरी के इस ऑनलाइन सर्वे में कांग्रेस बीजेपी से काफी आगे चल रही है। सर्वे में साफ देखा जा सकता है कि प्रदेश में एक बार फिर से कांग्रेस की वापसी हो सकती है। पंजाब केसरी के इस सर्वे में 54% लोगों ने कांग्रेस को पसंद किया तो वहीं 46% लोग चाहते हैं कि उपचुनाव में बीजेपी की जीत होगी।

दरअसल 21 मई से लेकर पंजाब केसरी ने सात दिनों तक एक सर्वे किया, जिसमें सवाल पूछा गया था कि ‘मध्यप्रदेश में 24 सीटों पर होने वाले उपचुनाव में आप किसके पक्ष में हैं ? जिसके बाद इस सवाल पर कुल दो लाख दस हजार लोगों का सैंपल लिया गया। जिसमें से जिसमें से सबसे ज्यादा 1 लाख 13 हजार (54%) लोग कांग्रेस तो 97 हजार (46%) लोगों ने बीजेपी को पसंद किया।

सर्वे में कांग्रेस आगे..
पंजाब केसरी द्वारा किए गए ऑनलाइन सर्वे की मानें तो कांग्रेस उपचुनाव में बाजी मार सकती है, और भाजपा को हार का सामना करना पड़ सकता है। वहीं हमारे इस सर्वे के बाद पूर्व कैबिनेट मंत्री सज्जन सिंह वर्मा, जीतू पटवारी ने भी ट्वीट करते हुए अपनी राय रखीं। सज्जन सिंह ने लिखा कि ‘रुझान आने लगे है!! “MP में फिर आयेगी कांग्रेस” प्रख्यात अख़बार पंजाब केसरी के सर्वे में 2 लाख से ज़्यादा लोगों ने अपने विचार रखे’

क्या बोले जीतू पटवारी…
तो वहीं पूर्व कैबिनेट मंत्री जीतू पटवारी ने भी ट्वीट करते हुए लिखा कि ‘मध्यप्रदेश का मन स्पष्ट है, पर पहले जरूरी है कि हम साथ मिलकर कोरोना से जंग जीते’

मध्यप्रदेश के कांग्रेस के ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से भी एक ट्वीट किया गया, जिसमें लिखा गया है कि ओपिनियन पोल में कांग्रेस सबसे आगे, 2 लाख 10 हज़ार सैंपल का है सर्वे; हिन्दी दैनिक पंजाब केसरी ने मप्र में कांग्रेस और भाजपा में से जनता की पसंद जानने के लिये सर्वे किया। सर्वे के मुताबिक़ मप्र की जनता पूरी तरह से कांग्रेस के साथ हैं, वहीं बीजेपी बहुत पीछे है।

बता दें कि पूर्व की कमलनाथ सरकार में सिंधिया समर्थक विधायकों के पार्टी से अलग हो जाने के कारण कांग्रेस की सरकार गिर गई थी, जिसके बाद सभी विधायकों की सीट खाली हो गई, जिसे भरने के लिए उपचुनाव होने हैं। लेकिन उपचुनाव से ठीक पहले पंजाब केसरी के सर्वे में जो रिपोर्ट आपने देखी, अगर ऐसी ही रिपोर्ट उपचुनाव में आई तो कांग्रेस एक बार फिर प्रदेश में वापसी कर सकती है।