Categories
News

59 सा’ल बा’द फि’र ब’ना ये दु’र्लभ संयो’ग, 5 मही’ने त’क दे’श दुनि’या में रहे’गा संक’ट, ज’ल्द क’रें अप’ने…

हिंदी खबर

नई दि’ल्ली: 59 सा’ल बा’द ए’क बा’र फि’र बृह’स्पति-श’नि का दु’र्लभ सं’योग ब’ना है। इस’के पह’ले भी ज’ब ये दु’र्लभ संयो’ग ब’ना था तो दे’श-दुनि’या के लि’ए अ’च्छा सि’द्ध न’हीं था औ’र इ’स बा’र भी ऐ’सा ही अंदे’शा जता’या जा र’हा है। मा’ना जा र’हा है कि इ’स दु’र्लभ संयो’ग की व’जह से 5 म’हीने त’क दे’श-दुनि’या प’र संक’ट दि’खाई दे सक’ता है।

इ’स दुर्ल’भ सं’योग की शुरू’आत हो चु’की है। बृहस्प’ति 20 न’वंबर को म’कर रा’शि में प्रवे’श क’र चु’का है। शुरुआ’त में य’ह अ’च्छा न’हीं दि’ख र’हा है। ये ग्र’ह अ’भी त’क व’क्री अव’स्था में ध’नु रा’शि में था।

म’कर रा’शि में बृह’स्पति का’फी क’मजोर मा’ने जा’ते हैं। दू’सरा, इ’स रा’शि में बृह’स्पति के सा’थ श’नि भी हैं। दे’श दुनि’या प’र इ’स गो’चर का ग’हरा प्र’भाव प’ड़ने का अनु’मान ज’ताया जा र’हा है।बृह’स्पति का ये गो’चर श’नि के का’रण ज्या’दा मह’त्वपूर्ण हो ग’या है।

ज्यो’तिष वि’द्या के जान’कारों के मुता’बिक बृहस्प’ति औ’र श’नि का ये संबं’ध दुनिया’भर में अस्थि’रता जै’से हाला’त पै’दा क’र सक’ता है। मं’दी, यु’द्ध, औ’र राजनै’तिक उथ’ल –पुथ’ल जै’सी ची’जें दे’खने को मि’ल स’कती हैं।

हालां’कि भा’रत की स्थि’ति में धी’रे-धी’रे सु’धार हो’गा। गनी’मत कि बा’त ये है कि रा’हु प’र बृहस्प’ति की दृ’ष्टि हो’ने के का’रण ब’हुत सा’रे मा’मले स’रकार के नियं’त्रण में ब’ने र’हेंगे। सर’कार बि’ना कि’सी रुका’वट के इ’न स’ब ची’जों प’र अप’ने हि’साब से सुचा’रू का’र्य क’रेगी।

राशिफ’ल 22 नवं’बर: इन 3 राशि’यों का हो’गा विवा’द, र’हें साव’धान, जा’नें सब’का हा’ल

इ’न बा’तों का र’खें ध्या’न

सिं’ह- खा’न-पा’न औ’र जीव’न में सात्विक’ता बना’ये र’खें। आ’गे चल’कर करि’यर में परि’वर्तन औ’र ला’भ के यो’ग ब’नते हु’ए दिखा’ई दे र’हे हैं। कारो’बार या फि’र न’ई नौ’करी में हा’थ डा’लने प’र काम’याबी मिल’ती हु’ई दि’खाई दे र’ही।स्वा’स्थ्य में थो’ड़ा उता’र चढ़ा’व आ’येगा। तबी’यत भी बिग’ड़ सक’ती है।

क’न्या- इ’स स’मय रि’श्तों का वि’शेष ध्या’न र’खें।शि’क्षा औ’र क’रियर की स्थि’ति अ’च्छी रहे’गी।अ’च्छे परि’णाम मि’लने के यो’ग बनें’गे।नि’त्य प्रा’तः बृ’हस्पति के म’न्त्र का ज’प क’रें.

तु’ला- बृहस्पति’वार को पी’ली वस्तु’ओं का दा’न क’रने से बहु’त ज’ल्द फा’यदा मिले’गा। करि’यर औ’र जी’वन में परि’वर्तन के यो’ग ब’न र’हे हैं। जीव’न शै’ली पह’ले से बेह’तर हो’गी। स्वा’स्थ्य को ले’कर थो’ड़ा स’जग रह’ने की जरूर’त है।

वृश्चि’क- सो’ने का छ’ल्ला तर्ज’नी अंगु’ली में ज’रुर धार’ण क’रें। करि’यर के मा’मलों में लापर’वाही क’रने प’र नुकसा’न हो सक’ता है। नौक’री या परी’क्षा की तैया’री को ले’कर ए’काग्रता में क’मी न आ’ने दें। स्वा’स्थ्य की स्थि’तियां धी’रे-धी’रे सुध’रती जाए’गी।

मे’ष- क’रियर औ’र व्या’पार के मा’मले शु’भ रहें’गे।ध’न-प्रॉ’पर्टी में ला’भ के यो’ग ब’नेंगे।आ’र्थिक स्थि’ति में का’फी सु’धार हो’गा।पू’जा उपास’ना प’र वि’शेष ध्या’न दे’ने से ला’भ हो स’कता है।

पै’से वा’ली रा’शियाँ : ऐ’से लो’ग सि’र्फ ध’न से कर’ते हैं प्या’र, जा’नें इन’के बा’रे में

करि’यर, स्वा’स्थ्य, ध’न के ख’र्चों  औ’र ध्या’न दे’ने की जरू’रत

वृष’भ- ह’र बृहस्पति’वार को के’ले का दा’न क’रें। स्वा’स्थ्य का ध्या’न रख’ना आव’श्यक है। रुप’ए-पै’से संबं’धी मा’मले धी’रे-धी’रे बे’हतर हो’ते जाएं’गे।

मि’थुन- ईश्व’र की उपा’सना जरू’र क’रें। स्वा’स्थ्य को लेक’र बिल्कु’ल सज’ग र’हें। कोरो’ना का’ल में अ’पनी औ’र अप’ने परि’जनों की अ’च्छी से देखभा’ल क’रें। क’रियर में थो’ड़ी रुका’वटें आ सक’ती हैं।

क’र्क- वि’वाह-प्रे’म संबं’धों के माम’लों में बा’त ब’नती हु’ई दि’खाई दे र’ही है। करि’यर औ’र आ’र्थिक स्थि’ति में अ’द्भुत सु’धार हो’गा। नौ’करी-व्या’पार में ला’भ मि’लेगा। स्वा’स्थ्य की स’मस्याएं दू’र हो’गी।

कुं’भ- ज्या’दा ईश्व’र की उपा’सना क’रें। ध’न के ख’र्चों औ’र मैनेज’मेंट प’र ध्या’न दे’ने की जरूर’त है । निवे’श कर’ने के लि’ए स’मय अ’च्छा न’हीं है ।विदे’श से संबंधि’त ला’भ हो’ने के यो’ग हैं।