Categories
News

से’क्स क’रने से दू’र हो’ती है ये बी’मारियां, मि’लते है क’ई फा’यदे, जा’निए क्या हैं…..

हिंदी खबर

से’क्स (Sex) के दौ”रान श’रीर (Body) में र’क्त सं’चार ते’ज हो’ता है. इ’ससे हृ’दय (Heart) स’हित क’ई अं’गों का अ’च्छा व्या’याम (exercise) हो जा’ता है. शो’ध में प’ता च’ला है कि से’क्स से कि’डनी में पथ’री की स’मस्या को इ’ससे दू’र कि’या जा सक’ता है.

से’क्स (Sex) के बा’रे में लो’गों की आ’म धार’णा है कि सं’तान प्रा’प्ति औ’र शारी’रिक सु’ख (Physical pleasure) प्रा’प्ति के लि’ए इ’स क्रि’या को कि’या जा’ता है. लो’गों को इ’स बा’द की जान’कारी न’हीं है कि से’क्स क’रने से अ’च्छी एक्सर’साइज भी हो जा’ती है. से’क्स (Sex) ए’क ऐ’सी क्रि’या है, जि’सके द्वा’रा बीमा’रियों (Diseases) को दू’र भी कि’या जा सक’ता है. से’क्स के दौ’रान श’रीर में र’क्त संचा’र ते’ज हो’ता है. इ’ससे हृद’य सहि”त क’ई अं’गों का अ’च्छा व्या’याम हो जा’ता है. हा’ल ही में हुए ए’क शो’ध में प’ता च’ला है कि य’दि निश्चि’त स’मय के के बा’द से’क्स कि’या जा’ए तो कि’डनी में पथ’री की स’मस्या को इस’से दू’र कि’या जा स’कता है. आ’इए जा’नते हैं क्या क’हता है शो’ध? औ’र से’क्स कर’ने के क्या फा’यदे हैं….

तु’र्की में हु’आ है शो’ध

myUpchar से जु’ड़ीं ए’म्स की डॉ. वी’के रा’जलक्ष्मी बता’ती हैं कि भा’रत की कु’ल आ’बादी में से 12 फी’सदी को युरिन’री ट्रै’क्ट इंफे’क्शन की आ’शंका है, जि’नमें से 50 फी’सदी मरी’जों के गु’र्दे को क्ष’ति पहुंच’ती है. इ’स बी’च, तु’र्की में हु’ए ए’क शो’ध में प’ता च’ला है कि स’प्ताह में क’म से क’म ती’न से चा’र बा’र य’दि शारी’रिक संबं’ध स्था’पित कि’ए जा’ते हैं तो किड’नी की प’थरी खु’द ही बा’हर निक’ल जा”ती है. अ’ब भार’तीय मू’त्र विशे’षज्ञ डॉ’क्टर भी इ”स शो’ध प’र पू’री तर’ह से सह’मति ज’ता र’हे हैं. भार’तीय डॉ’क्टरों का भी मान’ना है कि से’क्स के दौ’रान निक’लने वा’ला ए’क महत्व’पूर्ण यौगि’क छो’टी प’थरियों को स्व’त: बाह’र नि’कालने में म’ददगार सा’बित हो सक’ता है.

से’क्स के दौ’रान श’रीर में उ’त्पन्न हो’ता है ना’इट्रस ऑ’क्साइड
मू’त्र वि’शेषज्ञों का क’हना है कि से’क्स क’रने के दौ’रान श’रीर में नाइ’ट्रस ऑक्सा’इड उत्स’र्जित हो’ने लग’ता है औ’र उत्ते’जना की अव’स्था में य’ह मू’त्र नलि’का से बा’हर नि’कल जा’ता है. ज’ब ना’इट्रस ऑ’क्साइड शरी’र से बा’हर निक’लता है तो व’ह क्ष’ण से’क्स के दौरा’न बहु’त सुख’द अह’सास दे’ता है. हालां’कि, डॉ’क्टरों का य’ह भी मा’नना है कि इ’स सं’बंध में अ’भी औ’र प्र’योग त’था परी’क्षण कि’ए जा’ने की आवश्य’कता है. इ’स शो’ध में इ’स बा’त की भी संभाव’ना ज’ताई जा र’ही है कि से’क्स के दौरा’न ज’ब ना’इट्रस ऑक्सा’इड उत्स’र्जित हो’ता है तो इस’से मू’त्र नलि’का की मां’सपेशियों को ब’हुत ज्या’दा राह’त मिल’ती है, इस’लिए भी किड’नी रो’गी को अ’च्छा महसू’स हो’ता है.