Categories
Other

कंगना रनौत के बकील ने पेश की कोर्ट में संजय राउत की धमकी बाली वीडियो देखे क्या कहा……..

नई खबर

बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनोट के दफ्तर में बीएमसी द्वारा की गई तोड़-फोड़ के मामले की सुनवाई आज बॉम्बे हाईकोर्ट में हुई। सुनवाई के दौरान अदालत ने टिप्पणी करते हुए कहा कि बीएमसी ने यह कार्रवाई गलत नीयत के साथ की है।

कंगना के ऑफिस का सर्वे करने वाले अधिकारी की डिटेल मांगी

अदालत ने सवाल उठाते हुए कहा कि जितनी तेजी से आपने एक दिन पहले सर्वे कि‍या और अगले दिन कार्रवाई की, इतनी जल्दी तो आप कोर्ट में रिप्लाई भी नहीं करते। हाईकोर्ट ने पूछा है क‍ि बीएमसी के वो अधिकारी कौन थे जो कंगना रनोट के दफ्तर सर्वे करने गए थे। कोर्ट ने कहा क‍ि पहली बार मामले को देखने पर यही लगता है कि गलत नीयत से कार्रवाई की गई है। कोर्ट ने गुरुवार को कहा था कि तोड़ने में आपको वक्त नहीं लगता, जवाब मांगा जाता है तो समय चाहिए? कोर्ट ने इमारत गिराने पर भी बीएमसी को फटकार लगाई। मकान गिराने में फुर्ती दिखती है तो मरम्मत में सुस्ती क्यों दिखाई देती है।

कंगना के वकील बोले- कार्रवाई नहीं, दुश्मनी निकाली गई

कंगना रनौत के वकील ने कहा क‍ि यह कार्रवाई नहीं है, दुश्मनी निकाली गई है। कंगना महाराष्‍ट्र सरकार और शिवसेना के खिलाफ खड़ी थी, इसलिए बीएमसी को हथियार बनाया गया। उन्होंने आगे कहा कि वह घर पुराना था और मानसून का मौसम आ रहा था, इसलिए थोड़ी बहुत मरम्मत का काम हो रहा था।

संजय राउत की और से अदालत में दायर किया गया जवाब

इससे पहले कोर्ट ने शिवसेना नेता संजय राउत और BMC के अधिकारी भाग्यवंत लाते से जवाब मांगा है। एक्ट्रेस के वकील बीरेंद्र सराफ ने मंगलवार को हाईकोर्ट में एक डीवीडी सौंपी थी। सराफ का दावा है कि डीवीडी में राउत का वह बयान है, जिसमें उन्होंने कंगना को धमकी दी है। जिसपर आज संजय राउत ने अपना जवाब दाखिल कर दिया है।

हाईकोर्ट ने BMC को फटकार लगाई
BMC के खिलाफ कंगना की अर्जी पर गुरुवार को भी सुनवाई हुई। कोर्ट ने कहा कि तोड़ी गई प्रॉपर्टी को यूं ही नहीं छोड़ा जा सकता। सुनवाई के दौरान BMC ने जवाब देने के लिए समय मांगा तो कोर्ट ने फटकार लगाते हुए कहा कि आप तो बहुत तेज हैं, फिर आपको और समय क्यों चाहिए।

कंगना ने BMC से 2 करोड़ रुपए का हर्जाना मांगा
BMC ने कंगना की पाली हिल वाले बंगले में अवैध निर्माण बताते हुए 9 सितंबर को तोड़फोड़ की थी। इसके बाद कंगना ने 2 करोड़ रुपए के हर्जाने की मांग करते हुए BMC के खिलाफ हाईकोर्ट में अर्जी लगाई थी।