Categories
Other

रिया ने ड्र’ग्स मामलें में डाली ज’मानत या’चिका !! बोली मैं नि’र्दोष हूं!! मुझें………👇

खबरें

अ’भिनेता सु’शांत सिंह राजपूत की मौ’त से जुड़े ड्र’ग्स क’नेक्शन में गि’रफ्ता’र ए’क्ट्रेस रिया च’क्रवर्ती ने बॉम्बे हा’ईकोर्ट में दा’यर ज’मानत या’चिका में कहा है कि वह नि’र्दोष हैं और नार’कोटिक्स कं’ट्रोल ब्यू’रो (एनसीबी) ‘जा’नबूझ कर’ उन पर और उन’के परिवार पर गं’भीर आ’रोप लगा रहा है।

उन्होंने कहा कि वह ‘विच हंट’ (सं’दिग्ध व्यक्ति’यों की त’लाश अ’भियान) का शि’कार हुई हैं। हाई’कोर्ट में मंगलवार को दा’यर ज’मानत या’चिका में च’क्रवर्ती ने कहा है कि वह सिर्फ 28 साल की हैं और ए’नसीबी की जांच के अ’लावा, वह साथ ही साथ पु’लिस और कें’द्रीय ए’जेसियों की तीन जांच और ‘स’मानांतर मी’डिया ट्राय’ल’ का सामना कर रही हैं।

वह रा’जपूत मा’मले में मुं’बई पु’लिस, केन्द्रीय जां’च ब्यू’रो (सीबीआई) और प्र’वर्तन नि’देशालय (ईडी) की जांचों का ह’वाला दे रही थीं।च’क्रवर्ती ने कहा कि यह सब उसके, ”मा’नसिक स्वास्थ्य और से’हत पर बु’रा अ’सर डा’ल रहा है। उन्होंने अपने व’कील के मा’ध्यम से दा’यर या’चिका में कहा है कि हि’रा’सत की अ’वधि ब’ढ़ने से उनकी मा’नसिक स्थि’ति और भी बि’गड़ जाएगी।

न्या’यमूर्ति सारंग को’तवाल की ए’कल पी’ठ के स’मक्ष बु’धवार को वी’डियो का’न्फ्रेंस के माध्यम से च’क्रवर्ती की ज’मानत या’चिका पर सु’नवाई होनी थी। परंतु, मुं’बई में भा’री बा’रिश की व’जह से उ’च्च न्या’यालय ने बु’धवार की का’र्यवाही स्थगित कर दी और अब इन पर बृ’हस्पति’वार को सुनवाई होने की सं’भावना है।

चक्रवर्ती ने अपनी या’चिका में दा’वा किया है कि रा’जपूत मा’दक प’दार्थ खा’स तौर पर गां’जा का से’वन करते थे, और वह तबसे इ’सका सेवन कर रहे थे जब वे दो’नों सं’बंध में भी नहीं थे। उन्होंने कहा कि क’भी-क’भी वह उनके लिए ‘क’म मात्रा में मा’दक पदार्थ की खरीद भी करती थीं और ‘कई अवसरों पर उन्होंने इसके लिए भु’गतान भी किया।’ लेकिन वह खुद किसी भी मा’दक प’दार्थ गि’रोह की सदस्य नहीं हैं।

उन्होंने दा’वा कि सिर्फ राजपूत ही मा’दक पदार्थ का से’वन करते थे। या’चिका में कहा, ”आ’वेदक (च’क्रवर्ती) नि’र्दोष हैं और उन्होंने कोई अ’पराध नहीं किया है।” उन्होंने या’चिका में कहा कि वह ‘वि’च-हंट’ का शि’कार हुई हैं क्योंकि सी’बी’आई और ईडी उनके खि’लाफ स’बूत जुटाने में अ’सफ’ल रही और एनसीबी को, ”उन्हें और उनके परिवार को फं’साने के लिए ला’या गया

च’क्रवर्ती पर एन’सीबी ने कई आरो’पों के लिए मा’मला द’र्ज किया है, इसमें मा’दक प’दार्थ की अ”वैध त’स्करी का वि’त्तपोषण करना भी शा’मिल है। नारकोटिक्स ड्र’ग्स एंड सा’इकोट्रोपिक स’ब्सटां’स (एनडीपीएस) अ’धिनिय’म की धा’रा 27-ए के त’हत मा’मला द’र्ज किया गया है और यह धा’रा आ’रोपी को ज’मानत दे’ने पर रो’क लगाती है।

अ’भिनेत्री ने कहा कि उन्हें एन’डीपीएस अ’धिनियम की धा’रा 27-ए के त’हत ग’लत त’रीके से फं’साया गया है। और जब उनके पास से कोई मा’दक प’दार्थ ज’ब्त नहीं किया गया और ए’नसीबी सभी आ’रोपियों के पास से सि’र्फ 59 ग्राम मा’दक प’दार्थ ज’ब्त करने में स’फल रही तो ज’मानत पर रो’क लगाने का नियम उन पर ला’गू नहीं होता है।

एन’डीपीएस अ’धिनिय’म के त’हत माद’क प’दार्थों की बिक्री, ख’रीद, नि’र्माण, और अ’वैध त’स्करी के अ’परा’धों में छ’ह महीने से ले’कर 20 साल तक की स’जा और कुछ ह’जार से लेकर दो लाख रुपये तक का जु’र्माना हो इसी तरह का त’र्क सैमु’अ’ल मि’रांडा और दी’पेश सा’वंत के व’की’लों ने दिया था। ये सभी इस मा’मले में सह आ’रोपी हैं। गौरतलब है कि राजपूत (34) गत 14 जून को बां’द्रा में स्थित अपने आ’वास पर मृ’त मिले थे।