Categories
Entertainment News

प्रेग्नेंसी में सेक्स करना सही या गलत, जरूर जान लें ये खास बातें

हिंदी खबर

प्रेग्नेंसी (Pregnancy) के दौरान शरीर में कई तरह के बदलाव होते हैं. हार्मोन्स (Hormones) बदलते हैं और शारीरिक परिवर्तन भी महसूस होते हैं और साथ ही प्यार (Love) की ज्यादा जरूरत महसूस होती है.

प्रेग्नेंसी में सेक्स करना सही या गलत, जरूर जान लें ये खास बातें

सेक्स जीवन का अहम हिस्सा है, लेकिन इसके लिए सावधानी बरतना भी उतनी ही जरूरी है. सेक्स (Sex) के बारे में एक सवाल कई लोगों के मन में उठता है कि पार्टनर के प्रेग्नेंट (Pregnant) होने के दौरान शारीरिक संबंध (Physical Relationship) बनाए जाने चाहिए या नहीं? प्रेग्नेंसी (Pregnancy) के दौरान शरीर में कई तरह के बदलाव होते हैं. हार्मोन्स (Hormones) बदलते हैं और शारीरिक परिवर्तन भी महसूस होते हैं और साथ ही प्यार (Love) की ज्यादा जरूरत महसूस होती है. वैसे भी सेक्स महज शारीरिक सुख नहीं है. इसका भावनाओं से भी उतना ही लगाव है.

खास बात यह है कि गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को सेक्स में अधिक आनंद की प्राप्ति होती है. इसका कारण है कि जननांगों में बढ़ा हुआ रक्त प्रवाह उन्हें अति संवेदनशील बना सकता है. साथ ही गर्भावस्था के दौरान स्तन अधिक संवेदनशील हो जाते हैं. कुल मिलाकर गर्भावस्था के दौरान सेक्स किया जा सकता है, लेकिन कुछ सावधानियां भी जरूर बरतनी होंगी. जानिए इसी से जुड़ी कुछ जरूरी बातें –

  • प्रेग्नेंसी के किसी भी स्तर (हर तीन महीने) पर सेक्स सुरक्षित होता है और इससे कोख में पल रहे शिशु को नुकसान नहीं होगा. महिलाओं को गर्भपात या दर्द का डर रहता है, लेकिन जब तक दूसरी जटिलताएं नहीं हैं, ऐसा कुछ नहीं होता है. अगर मन में ऐसे डर हैं तो डॉक्टर से जरूरत बात करनी चाहिए. कहीं जोखिम है तो डॉक्टर चेक करने के बाद जरूरी सलाह दे देंगी
  • प्रेग्नेंसी के दौरान सेक्स का एक फायदा यह होता है कि मांसपेशियां प्रसव के लिए मजबूत हो जाती हैं. इम्यून सिस्टम मजबूत होता है.
  • सेक्स के दौरान भ्रूण को नुकसान नहीं पहुंचता है, क्योंकि सेक्स में उपयोग आने वाले अंग अलग हैं. इस प्रक्रिया का भ्रूण से कोई संबंध नहीं है. शिशु के आसपास एमनियोटिक द्रव का घेरा होता है जो उसे सुरक्षित रखता है. वह गर्भाशय में एमनियोटिक थैली से लिपटा होता है. सेक्स के दौरान पेनेट्रेशन योनि में होता है और इससे गर्भाशय पर बिल्कुल असर नहीं होता है.

प्रेग्नेंसी के दौरान सुरक्षित शारीरिक संबंधों का विशेष ख्याल रखें. क्योंकि यदि इस समय एसटीडी यानी सेक्सुअली ट्रांसमिटेड डिजीज (सेक्स के कारण होने वाली बीमारी) होती है, तो यह मुश्किल पैदा कर सकती है. कंडोम का इस्तेमाल करें और अंगों की साफ-सफाई का विशेष ख्याल रखें.
सेक्स के दौरान अपना ख्याल रखें. ऐसी पॉजिशन चुनें जहां आराम मिले और कोख पर ज्यादा दबाव न पड़े. महिलाओं को इस दौरान पीठ के बल लेटने से बचना चाहिए.

प्रेग्नेंसी के दौरान ओरल सेक्स सुरक्षित होता है, लेकिन ध्यान रखें कि पार्टनर योनि में हवा न डाले. इससे योनि में हवा के बुलबुले बन सकते हैं और रक्त वाहिका में रुकावट का कारण बन सकते हैं. यह शिशु के लिए नुकसानदायक हो सकता है.

यदि योनि से खून बह रहा है तो सेक्स बिल्कुल न करें. इससे जटिलता बढ़ सकती है. इसी तरह अगर भ्रूण में शिशु को आवरण देने वाला तरल पदार्थ लीक कर रहा है तो बेहतर होगा सेक्स से बचें.