Categories
News

आप भी करते हैं गूगल क्रोम का इस्तेमाल तो हो जाइए सावधान, फिर से आई ब्राउजर में ये गड़बड़ी………..

न्यूज

गूगल क्रोम वेब ब्राउजर का इस्तेमाल आपने कभी न कभी किया होगा. बहुत ही आम और चर्चित इस ब्राउजर की सिक्यो’रिटी से जुड़ी ऐसी गं’भीर ख़बर आई, जिसने चिं’ता बढ़ा दी. सारे यूजर्स को हा’ई अल’र्ट पर रहने कि ज़रूरत पड़ गई, जब गूगल ने हफ्ते में दूसरी बार अर्जेंट अपग्रेड वा’र्निंग जारी कर दी. गूगल क्रोम का इस्तेमाल करने वालों की संख्या बहुत ज़्यादा है. लगभग 2 बिलियन यूजर्स यानी 2 अरब लोग इसका इस्तेमाल करते हैं. इसलिए ख’तरा भी बड़ा है.

गूगल ने गूगल क्रोम की सिक्यो’रिटी में गंभी’र समस्या स्वीकारते हुए यूजर्स से ब्राउजर अपग्रेड करने को कहा है. मामले की गंभी’रता को ऐसे समझिए कि सिक्योरि’टी की छोटी-मोटी समस्या’ओं को बिना बात फैले ही दु’रुस्त कर लिया जाता है.

लेकिन इस बार गूगल ने नए ‘Zero-day’ exploit की बात स्वीकारी है. इसका मतलब होता है कि है’कर्स को इस बात का पता लग चुका है और इस वक़्त इस खा’मी के कारण यूजर्स को नुक’सान भी उठाना पड़ रहा है. वो ख’तरे में हैं. इस तरह से CVE-2021-30554 इस साल की सातवीं zero-day vulnerability है, जो गूगल क्रोम में पाई गई.

घब’राने की ज़रूरत नहीं है. किसी सम’स्या से बचने के लिए आपको इन निर्देशों का पालन करना होगा….

Settings > Help > About Google Chrome पर जाइए. अगर आपका ब्राउजर वर्जन 91.0.4472.114 या इससे ऊपर का नज़र आता है तो आप सुरक्षित हैं और अगर नहीं तो मैनुअली अपडेट कर लीजिए. अपडेट करने के बाद अपने ब्राउजर को रीस्टार्ट कीजिए. गूगल ने ये भी बताया कि इस वर्जन के साथ तीन और हाई लेवल के थ्रेट्स शामिल थे. इसलिए बेहतरी जल्द ही अपडेट चेक कर लेने में है.

फ़ोर्ब्स की ख़बर के मुताबिक़ ब्ली’पिंग कम्प्यूटर से बात करते हुए सिक्यो’रिटी वेंडर कैस्परस्की ने बताया था कि है’कर्स का एक नया ग्रुप इन दिनों ए’क्टिव है और गूगल क्रोम के पीछे पड़ा है. ये लोग खुद को ‘पजलमेकर’ कहते हैं और इन्होंने क्रोम के ज़ीरो डे बग्स की चेनिंग कर विंडोज सिस्टम में मै’लवेयर इनस्टॉल करने का तरीका खोज लिया है. बात यहां तक बढ़ी कि Microsoft को भी Windows users के लिए बीते हफ्ते urgent security warning जारी करनी पड़ गई थी.