Categories
धार्मिक

दुश्मन के जीवन में बवाल मचा देगी ये छोटी सी चीज़………

धार्मिक खबर

धार्मिक शास्त्र में मोर को एक अलग ही महत्ता प्राप्त है। जिस कारण ज्योतिष शास्त्र में भी मोर के पंख को पुरे नौ ग्रहों का प्रतिनिधि माना जाता है और मोरपंख भगवान श्रीकृष्ण के मुकुट की शोभा भी बढ़ाता है। इसलिए इसे बहुत पवित्र भी माना जाता है। ज्योतिष शास्त्र में मोरपंख के कुछ ऐसे ही रामबाण उपाय बताए गए हैं जिन्हें किसी भी शुभ मुहूर्त में करने मात्र से ही समस्याओं से निजात मिल सकती है। इस मोरपंख का ज्योतिष विद्या में विशेष स्थान है। तो आइए आपको बताते हैं ऐसे ही कुछ मोरपंख से जुड़े टोटकों के बारे में-

अगर घर के बच्चे अचानक से बहुत ज्यादा जिद्दी हो जाएं और अपने से बड़ो की बात माननी छोड़ दें तो उन्हें रोज़ाना मोर पंखे से बने पंखे से हवा करें अथवा अपने सीलिंग फैन पर ही मोर पंख चिपका दें। बच्चे का जिद्दी स्वभाव कुछ ही दिनों में अपने आप सही हो जाएगा और वो आपकी बात सुनने लगेगा।

अगर किसी को कोई शत्रु बहुत ज्यादा परेशान कर रहा हो तो उसे किसी मंगलवार या शनिवार को मोर के पंख पर, हनुमान जी की प्रतिमा के मस्तक के सिंदूर से एक मोरपंख पर शत्रु का नाम लिखें तथा घर के मंदिर में रात भर रखें। सुबह उठकर बिना नहाए तथा बिना किसी से बात किए बहते पानी में उस मोरपंख को बहा दें। ऐसा करने से बड़े से बड़ा शत्रु भी मित्र बन जाता है और आपका साथ देने लगता है।

नवजात शिशु या बच्चे के सिरहाने पर चांदी के तावीज़ में या उसके हाथ पर एक मोर पंख बांधकर रखने से बच्चे को कभी नज़र नहीं लगेगी और उसे सपने में डर भी नहीं लगेगा।

अगर किसी का कोई बनता-बनता काम अटक जाए और बार बार कोशिश करने के बाद भी पूरा न हो रहा हो तो राधा रानी के मंदिर में जाकर उनकी प्रतिमा के पास एक मोरपंख रख दें और रोज़ मंदिर में जाकर 40 दिनों तक पूजा अर्चना करें। फिर 40वें दिन इसे अपने घर में लाकर रख दें। इससे बिगड़े हुए समस्त काम पूरे होने लगते हैं।

शनिवार को तीन मोर पंख ले कर आएं। पंख के नीचे काले रंग का धागा बांध लें। एक थाली में पंखों के साथ तीन सुपारियां रखें। तीन मिटटी के दीपक तेल सहित शनि देवता को अर्पित करें। गुलाब जामुन या प्रसाद बना कर चढ़ाएं।

जिन की कुंडली में कालसर्प हो उन्हें अपने तकिये के खोल में 7 मोर पंख सोमवार की रात्रि में डालकर उस तकिए का उपयोग करना चाहिए। इसके साथ ही बेडरूम की पश्चिम दिशा की दीवार पर मोर पंखों का पंखा जिसमें कम से कम 11 मोर पंख लगे हों लगा देना चाहिए। इससे कुंडली में राहू-केतू का अशुभ प्रभाव कम हो जाएगा।