Categories
News

पी’रियड्स में यह 1 काम भूलकर भी मत करना, वर’ना जिंदगी भर पछ’ताओगे, जानें तुरं’त….

हिंदी खबर

पी’रियड्स किसी भी अन्य बॉ’डी प्रो’सेस की तरह ही नॉर्मल हैं, और हमें इनके बारे में बिल्कु’ल वैसे ही बात करनी चाहिए, जैसे हम बाकी सब चीजों के बारे में बात करते हैं। लं’बे समय से महिलाएं अपने पीरि’यड के द’र्द और ऐं’ठन के बारे में चुप रही हैं और इसी कार’ण यह प्र’था बन गई कि आज भी लोग पीरि’यड्स के बारे में सवा’ल पूछे जाने या बात करने पर श’र्म मह’सूस करते हैं।

हम में से अधिकतर महिलाओं के मन में पी’रियड्स के बारे में बहुत से सवा’ल होते हैं जिनका जवा’ब न तो हमारे माता-पिता देते हैं और ना ही टीच’र्स। प्रजन’न और यौ’न स्वा’स्थ्य सलाह’कार, डॉ निवेदिता मनो’करण, दे रही हैं आपके पीरि’यड्स से जु’ड़े सभी सवा’लों के ज’वाब-

  1. मुझे पहली बार गायने’कोलॉजिस्ट से कब मिलना चाहिए?


गायने’कोलॉजिस्ट को दिखाने के लिए कोई सही उ’म्र या समय नहीं है। अगर आपको किसी तरह के ल’क्षण दिख रहे हैं, जिसे लेकर आप चिंति’त हैं तो आपको गायने’कोलॉजिस्ट से मिलना चाहिए। आपको पी’रियड्स, पै’प स्मी’यर, एचपीवी टीका’करण, एस’टीआई स्क्रीन और लक्ष’णों से जुड़ी किसी भी सम’स्या के लिए डॉ’क्टर से सलाह लेनी चाहिए।

  1. PMS के दौरा’न इरिटे’शन या डिप्रे’शन होना क्या सा’मान्य है?
    हां, यह सं’भव है। मा’सिक ध’र्म से पहले के समय में हा’र्मोन में परि’वर्तन होता है और यह नि’श्चित रूप से इरि’टेशन और मू’ड-स्विं’ग्स का का’रण बन सकता है। पी’रियड्स से पहले के समय में डिप्रे’शन ब’ढ़ सकता है।