Categories
News Other

नोएडा फिर हुयी शर्मसार , चलती बस में दरिंदे लूटतें रहे आबरू, चिल्लाती रही पीडिता….

खबरें

नोएडा में चलती बस में एक महिला के रेप की दरिंदगी भरी घटना सामने आई है। महिला प्रतापगढ़ से प्राइवेट बस में अपने बच्चों के साथ नोएडा के लिए आ रही थी, इसी का फायदा उठाते हुए बस के ड्राइवर और कंडक्टर ने महिला का रेप कर उसकी आबरू को लूट लिया। इस हैवानियत के बाद से ड्राइवर बस लेकर गायब हो गया। किसी तरह नोएडा पहुंचने पर महिला ने अपने साथ हुई इस पूरी वारदात को अपने पति को बताया। जिसके बाद पति ने नोएडा सेक्टर 20 थाना पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। हालांकि पुलिस ने बस को बरामद कर लिया है साथ ही एक की गिरफ्तारी भी कर ली गई है।

मेरा हाथ बांध दिया और गलत काम किया

बस सवार पीड़ित महिला ने बताया कि ड्राइवर ने पहले उसे आगे स्लीपर सीट दी। इसके बाद वह और पैसे मांगने लगा। महिला ने कहा कि आप मुझे जहां उतारेंगे, वहां मेरा पति मिलेंगे, वह पैसे दे देंगे।

फिर उसके बाद उसने सबसे पीछे वाली सीट पर ले जाकर बिठा दिया, वहां कोई नहीं था। इसके बाद ड्राइवर थोड़ी देर बाद आया और मेरे साथ जोर-जबरदस्ती करने लगा। उसने मेरा हाथ बांध दिया और गलत काम किया।

इसके साथ ही बोला कि ज्यादा चिल्लाओगी तो जान से मार दूंगा। मेरे दो बच्चे हैं, मैं डर गई थी। मैं कुछ नहीं बोल पाई। इसके बाद कंडक्टर और एक और लड़के ने कहा पैसा ले लीजिए और बात खत्म कर दीजिए।

बस में 10 से 12 लोग

महिला ने अपने पति को फोन पर आपबीती बता दी। इसके बाद इन्होंने मुझे बस से उतार दिया और उसी दौरान मेरा पति और एक और लड़का बस पर चढ़ गए। मैं बस के पीछे-पीछे रिक्शा से गई।

सेक्टर 62 में ड्राइवर चलती बस से कूदकर भाग गया। पीड़िता ने कहा कि वह पहली बार आई है, उसे नहीं पता कि किस जगह उसके साथ ये घटना हुई। उसने बताया कि बस में 10 से 12 लोग थे।

इस मामले में डीसीपी महिला सुरक्षा वृंदा शुक्ला ने बताया कि आज सुबह पुलिस को एक चलती बस में रेप की घटना की सूचना प्राप्त हुई थी। ये घटना रात में चलने वाली एसी स्लीपर बस की है, जो प्रतापगढ़ से गौतमबुद्धनगर आ रही थी।

ऐसे में पीड़िता द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, बस जब लखनऊ से मथुरा के रास्ते पर थी, तो उस दौरान रात के समय ये घटना घटी है। सूचना प्राप्त होने पर तुरंत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

एफआईआर में नामित अभियुक्तों में से एक की गिरफ्तारी कर ली गई है, बस को सीज कर दिया गया है। वहीं बचे हुए नामित अभियुक्तों और बस के मालिक की गिरफ्तारी के लिए टीम रवाना कर दी गई हैं।

पीड़िता का मेडिकल जांच मेडिकल बोर्ड से कराई जा रही है। इसके साथ ही बस में सह यात्रियों को ढूंढकर बयान किए जा रहे हैं, जिससे मामले में जल्द से जल्द चार्जशीट दाखिल हो और आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा मिले सके।