Categories
News Other

अमित शाह का लॉकडाउन पर बड़ा फैसला , ऐसे होगा क..

खबरें

दिल्ली में कोरोना वायरस के हालात बेकाबू होने के मामले में आज यानी रविवार को गृहमंत्री अमित शाह ने उच्च स्तरीय बैठक बुलाई थी। सूत्रों के मुताबिक, इस मीटिंग में कई महत्वपूर्ण फैसले लिए गए हैं। जिसके बारे में गृह मंत्रालय जानकारी देगा। सूत्रों के हवाले से पता चला है कि इस बैठक में दिल्ली में दोबारा लॉकडाउन लागू करने को लेकर कोई फैसला नहीं लिया गया है। गृहमंत्री अमित शाह के उच्च स्तरीय बैठक में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन, एम्स के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया, दिल्ली के उप राज्यपाल अनिल बैजल समेत गृह मंत्रालय के अन्य अधिकारी शामिल रहे।

सूत्रों के मुताबिक, बैठक में क्वारनटीन सेंटर बढ़ाए जाने पर चर्चा की गई। इसके साथ ही यह भी स्पष्ट किया गया कि दिल्ली में लोगों को इलाज में कोई परेशानी नहीं आनी चाहिए। चाहे उनका इलाज दिल्ली सरकार के हॉस्पिटल में किया जाए या फिर केंद्र के हॉस्पिटल में। इसके अलावा अमित शाह के साथ हुई इस मीटिंग में केजरीवाल सरकार ने केंद्र के सामने कई मागें रखी हैं।

CM केजरीवाल ने केंद्र के सामने रखी ये मांग
कोरोना के लिए बेड की क्षमता बढ़ाई जाए।

सभी अस्पतालों में कोरोना मरीजों का इलाज होना चाहिए।

प्राइवेट अस्पतालों पर कैपिंग रेट लागू किया जाना चाहिए।

कोविड- 19 टेस्ट भी अन्य बीमारियों में होने वाले टेस्ट की तरह होना चाहिए।

टेस्ट की रिपोर्ट आसानी से मिलनी चाहिए।

प्राइवेट लैब्स में भी कोरोना टेस्ट किया जाए।

प्राइवेट लैब्स में कोरोना जांच की कीमत किफायती रखी जाए।

प्राइवेट अस्पतालों की मॉनिटरिंग के लिए एक कमेटी बनाई जाए।

अगले हफ्ते तक बीस हजार अतिरिक्त बेड की व्यवस्था की जाए।

कुछ होटलों और बैंक्वेट हॉल को आइसोलेशन वार्ड की तरह यूज किया जाए।

राजधानी में 40 छोटे होटलों को अस्पतालों से जोड़ा जाए। जिसमें चार हजार बेड हैं।

40 छोटे होटलों को अस्पतालों से जोड़ना चाहिए।

250-300 रेलवे कोच को आनंद विहार में लगाया जाए, बाद में इसे 500 कोच किया जा सकता है।

रेलवे कोच का इस्तेमाल आइसोलेशन सेंटर के तौर पर किया जाए।

देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। दिल्ली में एक दिन में दो हजार 134 नए कोरोना मरीजों की पुष्टि हुई है। इसके साथ ही यहां अब कोरोना मरीजों की संख्या 38 हजार 958 हो चुकी है। महामारी की चपेट में आकर अब तक एक हजार 271 लोगों की जान जा चुकी है। कोरोना संक्रमण के मामलों में महाराष्ट्र और तमिलनाडु के बाद दिल्ली का तीसरा स्थान है।