Categories
धार्मिक

नवरात्रि में किन औरतों और पुरुषों को नहीं रखना चाहिए व्रत…

धार्मिक

माता के 9 दिन के नवरात्रि शुरू होने वाले हैं ऐसे में यह जानना बहुत जरूरी होता है कि किन्हें यह व्रत धारण करना चाहिए और किन्हें नहीं। हिंदू धर्म में नवरात्रि के त्यौहार को बहुत ही विशेष महत्व दिया गया है। इस बार नवरात्रि 13 अप्रैल से शुरू होने वाले हैं जिस का समापन 21 अप्रैल को होगा। माता की विधिवत पूजा अर्चना करने से मनोवांछित फल मिलता है।
तो चलिए जानते हैं किसको व्रत रखना चाहिए नवरात्रि में और किसे नहीं- गर्भवती स्त्री को अपनी सेहत का ध्यान रखते हुए 9 दिन के नवरात्र व्रत को धारण नहीं करना चाहिए। गर्भावस्था के दौरान बहुत सारी सावधानियां रखनी होती हैं। अगर कोई व्यक्ति बीमारी से पीड़ित है तो उसे यह व्रत धारण नहीं करना चाहिए क्योंकि उसका शरीर पहले से ही कमजोर हो चुका होता है। ऐसे में व्रत धारण करने पर शरीर में और भी कई रोग आ सकते हैं क्योंकि उस समय शरीर में ऊर्जा नहीं होती है।

मधुमेह के मरीजों को व्रत रखने से हमेशा बचना चाहिए। मुख्य रूप से नवरात्र के समय। अगर आपने व्रत धारण किया है तो एक डाइट चार्ट बनवा लें जिसमें डायबिटीज को ध्यान में रखते हुए नवरात्र के व्रत को आप धारण कर लें जिसमें कम शुगर वाला भोजन शाल्ट युक्त फलाहार का प्रयोग कर सकते हैं। व्रत के दौरान आलू मीठे फल और भी मिष्ठान से बचना चाहिए। वहीं अगर किसी व्यक्ति की सर्जरी हुई हो तो उसे व्रत धारण नहीं करना चाहिए क्योंकि उसकी पहले से ही बहुत सारी दवाइयां चल रही होती है। अगर उसने व्रत धारण कर लिया तो दवाइयों के बीच में ब्रेक आएगा जिससे वह इलाज का क्रम टूट जाएगा।अगर आपने व्रत धारण किया है तो पहले अपने चिकित्सक से सलाह जरूर लें साथ ही दवाइयां खाना बंद ना करें।

यह भी जानना जरूरी है कि किस व्यक्ति को व्रत धारण करना चाहिए – अगर आपका शरीर जूस तंदुरुस्त हो तो आप पर धारण कर सकते हैं। आप व्रत के दौरान ऐसी चीजों का प्रयोग करें जिससे आपका शरीर एनर्जेटिक रहे। कोई भी बीमारी आपके शरीर को छू ना पाए। मैथ का मतलब भूखा रहना नहीं होता व्रत का मतलब एक संकल्प होता है जिसे आप धारण करते हो। बात को हमेशा ध्यान में रखना चाहिए। माता के नो दिन नवरात्रि में आप विशेष तौर पर से ध्यान रखें।