Categories
धर्म

क्या होता है नीचभंग राजयोग, इन दो राशियों को उठाने पड़ते है इस महायोग के भीषण परिणाम…

धार्मिक ख़बर

ज्योतिष के अनुसार कुंडली में राज योग के बारे में भले ही कई दावे हों, लेकिन अगर सीधे शब्दों में कहें तो नीच भंग राज योग वह योग है जिसमें नीच ग्रह के ग्रह अस्त हो जाते हैं या ग्रह का बुरा प्रभाव समाप्त हो जाता है। यह जीवन के कई पहलुओं के लिए सौभाग्यशाली है।नीच भंग राज योग का प्रभाव यह है कि खराब स्थिति में पैदा हुआ व्यक्ति भी एक समय में बहुत अच्छी कमाई करने लगता है। कमजोर स्थिति में ग्रह शुभ फल देने लगते हैं। इस योग के कारण जातक अपनी सभी परेशानियों पर काबू पाता है। हर समस्या, कठिन परिस्थितियाँ, और पैसे की कमी उनका रास्ता छोड़ देती है।

नीच भंग राज योग का सबसे महत्वपूर्ण लाभ धन और लोकप्रियता है। धीरे-धीरे, जातक जीवन में अपार धन, यश, प्रतिष्ठा आदि प्राप्त करता है। इस राज योग का प्रभाव व्यक्ति के जीवन में आने वाली परेशानियों को भी दूर करता है। यह उन्हें पूरी ऊर्जा और उत्साह के साथ आगे बढ़ने में मदद करता है। विशेषज्ञ ज्योतिषियों के अनुसार, यदि कोई व्यक्ति बहुत अधिक असफल हो रहा है या जीवन में प्रगति करने में सक्षम नहीं है, तो नीच भंग राज योग के प्रभाव से उन्हें जीवन में सफलता मिलेगी।

यह योगासनों के लिए आगे बढ़ना आसान बनाता है।नीचा भंग राज योग के कारण, यदि किसी व्यक्ति को शादी और घर बसाने में परेशानी हो रही है, तो उन्हें जल्द ही एक अच्छा साथी मिल जाएगा। इसके अलावा, वे एक बहुत ही सुखी वैवाहिक जीवन का आनंद ले सकते हैं। इसके अतिरिक्त, उन्हें पहली बार में बच्चा होने में परेशानी हो सकती है। हालांकि, बाद में, उन्हें एक सुंदर और स्वस्थ बच्चे का आशीर्वाद मिलता है।

नीच भंग राज योग कैसे बनता है?
जब नवम भाव में अत्यधिक शुभ ग्रह होता है तब वह नीच भंग राज योग बनाता है।
राज योग में, यदि एक दुर्बल ग्रह चंद्र त्रिकोण में स्थित है तो नीच भंग राज योग बनता है।
यदि नीच ग्रह उच्च राशि का हो, उस राशि का स्वामी लग्न के केंद्र में हो, तो विघटनकारी राज योग बनता है।
यदि किसी अन्य ग्रह से दृष्टि हो या उस पर दृष्टि हो, तो नीच राजयोग का निर्माण होता है।