Categories
धर्म

इन तीन पौधों का सूखना होता है कंगाली का संकेत अगर सूखें तो तुरंत करें ये…

धार्मिक ख़बर

हमारे जीवन में पेड़-पौधों का महत्व बहुत ज्यादा होता है। जीवन की कल्पना बिना वृक्ष के की ही नहीं जा सकीत है। मान्यताओं और वास्तु के अनुसार, पेड़-पौधों को बहुत ही खास और महत्वपूर्ण बताया गया है। इसी तरह के सनातन धर्म में तुलसी समेत कई अन्य पेड़ों का महत्व अत्याधिक है। इन पेड़ों की पूजा भी की जाती है। वास्तु में कई ऐसे पौधों के बारे में बताया गया है जिन्हें घर में लगाना बेहद ही शुभ होता है। कहा जाता है कि अगर तुलसी का पौधा सूख जाए तो यह अच्छा नहीं माना जाता है। इसी तरह से कुछ ऐसे पौधे भी हैं जिनका मुरझाना या सूखना बेहद अशुभ माना जाता है। यह हानि के संकेत होते हैं।

शमी का वृक्ष:

अगर शनि की पीड़ा से मुक्ति चाहिए तो व्यक्ति को शमी का पेड़ लगाना चाहिए। यह शिवजी का प्रतीक माना जाता है। अगर आपने शमी का पेड़ लगाया है और यह सूख गया है या मुरझा गया है तो यह शनि की खराब स्थिति का संकेत है। इससे धन हानि होती है। साथ ही कार्य संबंधि समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। अगर यह वृक्ष सूख गया है तो इसे हटाकर दूसरा वृक्ष रोप देना चाहिए।

मनीप्लांट का सूखना:

वास्तु के अनुसार, मनी प्लांट को धन वृद्धि का संकेत माना जाता है। यह पौधा बेल जैसा बढ़ता है। मान्यता है कि घर में अगर मनी प्लांट खूब हरा-भरा हो तो घर में धन, वैभव और समृद्धि बनी रहती है। अगर यह मुरझा जाए या सूख जाए तो इसे अच्छा नहीं माना जाता है। अगर ऐसा होता है तो इससे घर में आर्थिक तंगी आती है। मनी प्लांट लगाते समय यह ध्यान रखना चाहिए की उसकी बेल हमेशा ऊपर की तरफ बढ़नी चाहिए है।

अशोक का पेड़:

अशोक के पेड़ को सकारात्मक ऊर्जा का प्रतीक होता है। इसका पेड़ मुख्य दरवाजे पर लगाना चाहिए। यह बेहद शुभ होता है। अशोक के पेड़ के पत्ते मंदिर में रखे जाने चाहिए। इसका तोरण भी बेहद शुभ माना जाता है। इसका पेड़ बेहद ही शुभ और मंगलकारी माना गया है। अगर यह सूख जाता है तो इससे घर में घर की सुख-शांति में बाधा आ सकती है।