Categories
धर्म

इस एक उपाय को करने से कभी नहीं आएगा हार्ट अटैक

धार्मिक ख़बर

किसी ने खूब कहा है कि पहले हम अधिकतम समय कमाने में गवा देते हैं और बाद में सेहत का ध्यान न रखने के कारन होने वाली बिमारियों पर उसी कमाई को खर्च करते हैं। तो क्यों न पहले ही अपनी सेहत का धयान रखा जाये। आज हम दिल की बिमारी के बारे में बात करने जा रहे हैं। जो लोग रेगुलर सेहत चेकअप करवाते रहते हैं उन्हें तो अपनी सेहत समस्याओं का पता चलता रहता है पर जो लोग रेगुलर सेहत जांच नहीं करवाते उन्हें पता नहीं चलता की उनकी सेहत समस्याएं क्या हैं। ऐसे में परमात्मा न करें अगर किसी को हार्ट ब्लॉकेज या हार्ट की समस्या हो तो वो बहुत गंभीर समस्या हो सकती है।

अगर आप की हार्ट में ब्लॉकेज हो रही है तो इसका अर्थ ये है कि आप के ब्लड में एसिडिटी बढ़ रही है। Acidity दो प्रकार की होती है, एक पेट की Acidity और दूसरी खून में Acidity.

जब पेट में एसिडिटी होती है तो हमें पेट में जलन, खट्टे डकारें होती हैं और अगर हार्ट में एसिडिटी हो तो वो hyper-acidity बन जाती है। जब पेट की एसिडिटी बढ़ के ब्लड में चली जाती है तो वो hyper-acidity बन जाती है। ब्लड में एसिडिटी होने के कारण वो दिल की नालियों में जम जाता है जिसे हार्ट ब्लॉकेज कहते हैं, और ब्लड फ्लो सही न होने के कारण हार्ट अटैक होता है।

अब हमारी खबरें यूट्यूब चैनल पर भी देखें । नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें और हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें ।

अब हमारी ख़बरें एप्लीकेशन पर भी उपलब्ध हैं । हमारा एप्लीकेशन गूगल प्ले स्टोर से अभी डाउनलोड करें और खबरें पढ़ें ।

हार्ट की ब्लॉकेज हो आप ऐसी चीजों का उपयोग करो जो छारीय है जिस से ब्लड की अमलता neutral हो जाये यानी ब्लड में एसिडिटी ख़तम हो जाये, और जब ब्लड में एसिडिटी ख़तम हो गयी तो आप को कभी हार्ट अटैक आ ही नहीं सकता।

ऐसे दूर करें हार्ट ब्लॉकेज

सबसे ज़्यादा छारिय चीज़ लौकी (bottle gourd) है। अगर आप के हार्ट में ब्लॉकेज है तो आप हर रोज़ सुबह खाली पेट एक गिलास लौकी का जूस पीएं। और छारिय बनाने के लिए इसे में सात से दस पत्ती तुलसी और पुदीना के भी डाल सकते हैं। लौकी का जूस निकालने से पहले ये जरूर चेक करें के कढ़वी न हो। इस जूस में आप काला या सेंधा नमक ज़रूर डालें। याद रखें आप को सफ़ेद नमक ( आयोडीन वाला ) नहीं डालना, ये एसिडिटी बढ़ाता है। 21वें दिन आप को फरक महसूस होने लगेगा। और दो से तीन महीनों में ब्लड की सारी ब्लॉकेज ठीक हो जाएगी।

अगर आप सेहतमंद हैं तो आप फिर भी इस उपयोग का सेवन साल में एक बार कर सकते हैं। लौकी का मौसम जब आता है तब आप एक महीना इस विधि को फॉलो करें ता कि आप का दिल हमेशा सेहतमंद रहे।

सब देखिये