Categories
धार्मिक

केदारनाथ धाम के कपाट खोलते समय पुजारी ने जो देखा उसने पूरी दुनिया को हैरान कर दिया….

धार्मिक खबर

6 महीने मंदिर बंद रहने के बावजूद केदारनाथ में लगातार जलता रहता है ​दीया, जाने इससे जुड़ी 10 चौंकाने वाली बातें

नई दिल्ली। चार धाम यात्रा का महत्पपूर्ण हिस्सा है केदारनाथ। यहां शिव जी की आराधना की जाती है। ये बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक है। मान्यता है कि यहां दर्शन करने मात्र से भक्त के सारे कष्ट दूर हो जाते हैं और उसे मोक्ष की प्राप्ति होती है। भगवान शिव के इसी चमत्कारिक धाम के दर्शन के लिए पीएम नरेंद्र मोदी भी पहुंचे। उन्होंने यहां मत्था टेका। आज हम आपको केदरनाथ धाम से जुड़ी कुछ ऐसी चौंकाने वाली बातों के बारे में बताएंगे, जिन्हें शायद ही आप जानते होंगे।

जानें केदारनाथ से जुड़ी 10 दिलचस्प बातें, इस जगह बैल के रूप में भोलेनाथ ने दिए थे दर्शन

1.केदारनाथ में भू-शिवलिंग की पूजा की जाती है। बताया जाता है कि यहां शिवलिंग की उत्पत्ति अपने आप जमीन से हुई थी। इस मंदिर का निर्माण पांडवों ने कराया था। यहां शिव जी ने उन्हें बैल के रूप में दर्शन दिए थे।

2.केदारनाथ का मंदिर हमेशा बर्फ से ढका रहता है। यहां के खराब मौसम के चलते मंदिर के कपाट 6 महीने तक के लिए बंद कर दिए जाते हैं। मंदिर बंद करने से पहले पुजारी विग्रह और दंडी को नीचे ले जाते हैं।

3.इसके बाद मंदिर परिसर की सफाई करके वहां एक दीपक जला देते हैं। हैरानी की बात यह है कि मंदिर 6 महीने बंद रहने के बावजूद इसके दोबारा खोलने पर भी दीया वैसे ही जलता हुआ दिखाई देता है।

4.मंदिर में एक छोटा—सा दीया 6 महीने तक लगातार कैसे जलता है इस बात को लेकर सब हैरान हैं। क्योंकि मंदिर के पुजारियों के अनुसार केदारनाथ के कपाट शीत काल में बंद कर दिए जाते हैं। इसके बाद ये दीपावली के दूसरे दिन ही खुलता है। इस बीच ज्यादा ठंड होने के चलते वहां परिंदा तक पर नहीं मार सकता है।

5.मंदिर की एक और बात बड़ी हैरान करने वाली है कि वहां भगवान शिव आज भी भक्तों को साक्षात दर्शन देते हैं। इसीलिए उन्हें जागृत महादेव के नाम से भी जाना जाता है।

6.पुराणों के अनुसार शिव जी का एक भक्त बड़ी मुश्किलों को पार करके केदारनाथ पहुंचा था, लेकिन नियम के मुताबिक मंदिर के कपाट 6 महीने के लिए बंद कर रहे थे। तब उन्होंने भक्त से मंदिर के कपाट दोबार खुलने पर आने की बात कही।

7.पुजारियों की बात सुनकर भक्त ने वहां से जाने के लिए मना कर दिया और शिव जी के दर्शन करने पर अड़ गया। वो वहीं भूखा-प्यासा बैठा रहा। मगर मंदिर के कपाट बंद हो गए। तभी भक्त को अचानक नींद आ गई और वो 6 महीनों तक सोता रहा।

8.बताया जाता है कि जब वो भक्त सो रहा था तब उसे एक वैरागी ने दर्शन दिए। इसके बाद जब वो सोकर उठा तब उसने देखा कि मंदिर के कपाट खुल रहे हैं। मंदिर के पुजारी भी उसे पहचान गए।

9.तब लोगों में आश्चर्य हुआ कि भोलेनाथ से मिलने आया ये व्यक्ति दर्शन के लिए इतना बेचैन था कि उसे शिव जी ने खुद साक्षात दर्शन दिए हैं और वो मंदिर खुलने पर दर्शन कर सके इसके लिए उन्होंने उसे 6 महीनों के लिए सुला दिया। शिव जी की इसी महिमा के चलते उन्हें जागृत महादेव के नाम से भी जाना जाता है।

10.मालूम हो कि पीएम नरेंद्र मोदी लोकसभा चुनाव प्रचार के खत्म होने के बाद यात्रा के लिए केदारनाथ आए हैं। आज उन्होंने वहां दर्शन किए है। कल वे बद्रीनाथ जाएंगे।