Categories
Other

राम मंदिर के लिए भक्तों ने खोले खजाने, 1100 करोड़ का लक्ष्य था, दान में आए 2100 करोड़ 💵

धार्मिक ख़बर

Ram Mandir Chanda: अयोध्या में भगवान श्रीराम का भव्य मंदिर बनाने के लिए चला 44 दिन का चंदा अभियान 27 फरवरी, शनिवार को पूरा हो गया। श्री राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष स्वामी गोविंद देव गिरी के अनुसार, चंदा इकट्ठा करने के अभियान के तहत शुक्रवार तक 2100 करोड़ रुपए का चंदा मिला है। खास बात यह है कि 15 जनवरी से शुरू हुए इस अभियान का लक्ष्य 1100 करोड़ रुपए था। 2100 करोड़ रुपए की राशि अभी और बढ़ेगी, क्योंकि राशि गिनने का काम जारी है। स्वामी गोविंद देव गिरी ने यह भी बताया कि अब विदेशों में रह रहे राम भक्त अपने यहां भी चंदा जुटाने का अभियान शुरू करने की मांग उठा रहे हैं। श्रीराम मंदिर ट्रस्ट की आगामी बैठक में इस पर फैसला किया जाएगा।

बता दें, राम मंदिर निधि समर्पण अभियान 15 जनवरी 2021 को मकर संक्रांति के उपलक्ष्य पर आरंभ किया गया था। इसके लिए 27 फरवरी 2021 यानी संत रविदास जयंती तक का समय तय किया गया था। इन 44 दिनों में 5 लाख गावों तक जाने का लक्ष्य था। इसके लिए राम मंदिर ट्रस्ट की ओर से 10 रुपए, 100 रुपए और 1000 रुपए का कूपन जारी किए गए थे। सबसे ज्यादा 100 रुपए के 8 करोड़ कूपन छपवाए गए थे। हालांकि जल्द ही ये कूपन कम पड़ गए।

राष्ट्रपति से हुई थी चंदा अभियान की शुरुआत

राम मंदिर के लिए चंदा अभियान की शुरुआत 15 जनवरी से हुई थी और पहला चंदा देश के प्रथम नागरिक राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से लिया गया था। राष्ट्रपति ने 5 लाख रुपए का चंदा दिया था। इसके बाद बड़ा से बड़ा चंदा देने की होड़ नजर आई। कई भक्तों ने 1 करोड़ से अधिक का चंदा दिया। इनमें मध्य प्रदेश से भाजपा के दो विधायकों भी शामिल थे। ये थे कटनी के विजयराघवगढ़ सीट से विधायक संजय पाठक और रतलाम विधायक चेतन कश्यप।