Categories
Other

सूर्य का राजनीति में राशि परिवर्तन:: सूर्य ने बदली अपनी चाल कांग्रेस के आएंगे अच्छे दिन 😱….

धार्मिक खबर

Surya Ka Rashi Parivartan 2021: नौ ग्रहों में सूर्य को राजा माना गया है। सूर्य के साथ बुध के अलावा कोई भी ग्रह बैठा हो तो वह अस्त हो जाता है। यदि सूर्य अपनी उच्च राशि के एकादश भाव में हो तो राजयोग बनाता है। सूर्य हड्डी और नेत्र का प्रमुख कारक ग्रह है। कुंडली के छठे भाव में सूर्य, चंद्र, केतु एक साथ होने से दृष्टि दोष (भैंगापन) उत्पन्न करता है। सूर्य और चंद्र की युती यदि शत्रु भाव में हो तो हृदय रोग उत्पन्न करता है। सूर्य और राहू की युती लग्र, छठे एवं अष्टम भाव में हो तो हार्ट-अटैक की संभावना हो सकती है।

Sun Transit 2021: यदि लग्र में अशुभ सूर्य शत्रु क्षेत्रीय ग्रहों के साथ युती करे तो अपनी दशा अथवा अंतर्दशा में जातक को गुप्त रोग, कुष्ठ रोग आदि की पीड़ा देता है। शुक्रवार 12 फरवरी रात 8 बजकर 42 मिनट पर सूर्य का प्रवेश कुंभ राशि में हो गया है। वहां एक माह (11 मार्च, 2021) तक, विराजमान रहेंगे। सिर्फ कुंभ राशि ही नहीं वरन अन्य राशियों पर भी सूर्य के इस गोचर का प्रभाव पड़ेगा।

Sun Transit Effects As Per Zodiac Signs: किस राशि पर क्या पड़ेगा प्रभाव
मेष राशि के लिए सर्वोत्तम फलदायी होगा।
वृष राशि के जातकों को भूमि-भवन-वाहन सुख की प्राप्ति होगी। मनचाही नौकरी-तबादले के योग।
मिथुन राशि वालों को विदेश यात्रा एवं धन प्राप्ति।
कर्क राशि वालों को राजभय, सेहत खराब।
सिंह राशि वालों की प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी।
कन्या राशि वालों को जीवन-साथी, संतान की चिंता।
तुला राशि वालों की प्रतिष्ठा में चार चांद लगना सुनिश्चित है।
वृश्चिक राशि वालों के लिए अपयश, दिल का आप्रेशन एवं धोखा। पूर्व दिशा से लाभ।
धनु राशि वालों के पद प्रतिष्ठा, करियर का बढ़ना सुनिश्चित है।
मकर राशि वालों के लिए आंखों में चोट एवं गृह क्लेश का भय।
कुंभ राशि वालों के वैवाहिक जीवन में परेशानी।
मीन राशि वालों के लिए धन आने से पहले जाने का रास्ता बनेगा।

Sun Transit Effects: देश-दुनिया पर सूर्य के राशि परिवर्तन का प्रभाव
चीन-अमेरिका-पाक एवं भारत में शीत युद्ध के बादल मंडराएंगे। प्राकृतिक प्रकोप। नए रोगों का उदय होगा। भारतीय राजनीति में घमासान होगा। बंगाल, हरियाणा, पंजाब, राजस्थान में राजनीतिक उठा-पठक होगी। ममता बनर्जी, राहुल गांधी, प्रियंका गांधी एवं किसान नेता राकेश टिकैत की प्रतिष्ठा और वर्चस्व बढ़ेगा।