Categories
ज्योतिष

शादी में अड़चन, हाथ से निकल रही उम्र तो करें ये सरल उपाय

खबरें

जब बच्चों की उम्र हो जाती है तो माता-पिता को अपने बच्चों की शादी की फिक्र होने लगती हैं और वे इसके लिए तैयारी करने लगते हैं।लेकिन लाख कोशिशों के बाद भी कई लोगों के जीवन में शादी के योग ही नहीं बनते हैं।शादी के चलते या तो बात नहीं बनती हैं और बनती हैं तो भी रिश्ता पहले टूट जाता हैं। ऐसे में जरूरत हैं कुछ ज्योतिषीय उपायों को करने की, ताकि कुंडली में शुभ संयोग बन सकें।

हर माता-पिता अपनी संतानों की शादी के लिए बहुत चिंतित और परेशान रहते है और वे चाहते है कि उनकी संतान को सुयोग्य वर या वधु समय पर मिल जाएं। शादी लडकियों के माता पिता के लिए एक बड़ी वजह है क्योंकि ये माना जाता है कि लडकी की शादी समय पर ना हो तो उसके लिए रिश्ते मिलना मु’श्किल हो जाता है और लड़की का रिश्ता तय होने में कभी-कभी रिश्ते टूटते भी है।

विवाह में काफी रूकावट
जन्मकुंडली में कई ऐसे योग होते हैं जिनकी वजह से कोई भी पुरुष या स्त्री की विवाह में काफी रूकावट आती है। कई बार ये रूकावट बाहरी बा’धाओं की वजह से भी आती हैं। इस प्रकार की स्थिति होने पर शीघ्र विवाह के उपाय करने में समझदारी रहती है। इन उपाय को करने से शीघ्र विवाह के मार्ग बनते है, तथा विवाह मार्ग की समस्त बाधाएं दूर होती है।जानते है कुछ उपाय जो इस परेशानी को दूर करेंगे और मनचाहा जीवनसाथी दिलाने में मदद करेंगे।

रविवार के दिन एक पीला कपडा लें और उसमे 7 सुपारी, 7 हल्दी की गांठ, 7 गुड की ढेली, 7 पील फुल, 70 ग्राम चने की दाल, 70 सेंटीमीटर पीला कपडा और 1 पंद्रह का यंत्र रख लें। अब आप इन सबसे माता पार्वती की पूजा करें और पूजन के बाद इन सबको 40 दिनों तक अपने घर में रखें। माता पार्वती के आशीर्वाद से इन 40 दिनों के भीतर ही आपके विवाह के योग बनने आरंभ हो जायेंगे।

पीला ही भोजन करें
गुरुवार के दिन व्रत रखें और पीली वस्तुओं जैसे पीले कपडे, चने के दाल, हल्दी, या गुड इत्यादि का दान करें तो उन्हें शीघ्र ही लाभ मिलता है। साथ ही व्रत के दौरान उन्हें ब्रहस्पति व्रत कथा भी पढनी चाहियें और केले के पेड पर जल चढाना चाहिये। ध्यान रहें कि आप दिन में कभी भी न सोयें और श्याम के समय पीला ही भोजन करने। इस तरह आप इस उपाय को 21 गुरुवार तक अपनायें।