Categories
धर्म

आपके हाथों की उंगलियों में छुपा है आपका भविष्य अगर हैं ऐसी उंगलियां तो आगे चलकर बन सकते है…

धार्मिक

व्यक्ति के हाथ की उंगलियां उसके स्वभाव चरित्र व दोष के बारे में बताती हैं. अक्सर आपने देखा होगा, कि अगर आप किसी भी ज्योतिश के पास जाते हैं , तो वह व्यक्ति का हाथ देखकर ही सब जान जाता है, व उसी हिसाब से सभी को उपाय बताता है। तो आइए जानते हैं क्या कहती हैं आपके हाथ ही उंगलियां-

कनिष्ठा उंगली यानी लिटिल फिंगर  हाथ की सबसे छोटी उंगली को कनिष्ठा उंगली कहते हैं। ये उंगली आपकी आर्थिक स्थिति और बुद्धि का स्तर बताती है। ये उंगली जितनी लंबी होगी व्यक्ति उतना ही बुद्धिमान होगा और उच्च पद प्राप्त करेगा। ये उंगली अगर छोटी हो या टेढ़ी हो तो व्यक्ति को जीवन में काफी उतार-चढ़ाव झेलने पड़ते हैं। अगर ये उंगली गड़बड़ हो तो गणेश जी को दूर्वा अर्पित करें, ऐसा करने से आपका ये दोष आप पर हावि होने में असफल होगा।

अनामिक उंगली यानी रिंग फिंगर – ये वो उंगली है जिसमें आमतौर पर सगाई की अंगूठा पहनाई जाती है। इस उंगली से व्यक्ति की भावनाएं और नाम-यश देखा जाता है। अगर आपकी ये उंगली ज़्यादा लंबी है तो ऐसा माना जाता है कि इसकी वजह से व्यक्ति काफी क्रोधित और दुस्साहसी स्वभाव का होता है।

मध्यमा उंगली यानी मिडल फिंगर- आमतौर पर यह उंगली तर्जनी और अनामिका से बड़ी होती है। मध्यमा उंगली कभी भी 1/4 इंच से बड़ी नहीं होनी चाहिए। माना जाता है अगर यह उंगली 1/4 इंच से लंबी है तो ऐसे व्यक्तियों को काफी परिश्रम के बाद ही जीवन में सफलता मिलती है। इन्हें शुरुआत में सुख-सुविधाएं नहीं मिलती लेकिन अपनी मेहनत से यह हर मुकाम हासिल कर लेते हैं। अगर आपकी भी मध्यमा उंगली ¼ से ज्यादा लंबी है तो आपको धैर्य से काम लेना होगा। अगर मध्यमा उंगली तर्जनी उंगली से 1/2 इंच या इससे बड़ी है तो व्यक्ति बुरी आदतों को जल्दी अपना सकता है। इन लोगों में नकारात्मकता बहुत होती है। अपने फायदे के लिए यह किसी भी हद तक दूसरों का नुकसान कर सकते हैं।

तर्जनी उंगली यानी इंडेक्स फिंगर  अंगूठे के साथ वाली उंगली को तर्जनी उंगली कहा जाता है। ज्यादातर हाथों में तर्जनी उंगली अनामिका उंगली से छोटी होती है। अगर आपकी तर्जनी उंगली अनामिका से लंबी है तो आप अपने नीचे काम करने वाले कर्मचारी से कड़ाई से काम लेते हैं ऐसे लोगों में अहंकार की भावना भी होती है। वहीं अगर तर्जनी और मध्यमा दोनों उंगलियां बराबर हों तो वह लोग विश्व में ख्याति प्राप्त करते हैं। वहीं जिस जातक की तर्जनी उंगली अनामिका से लंबी और वर्गाकार होती है तो ऐसे व्यक्ति सदाचारी और उदार होते हैं। अगर ये उंगली अनामिक के बराबर हो तो वह व्यक्ति चालाक होता है।

अंगूठा – हाथ की उंगलियों में सबसे ज्यादा अहम होता है। अगर किसी व्यक्ति का अंगूठा पेरुवा मोटा, भारी और छोटा हो तो ऐसा व्यक्ति अचानक गुस्से में आकर किसी को कुछ भी हानि पहुँचा सकता है।अंगूठे का लंबा और समकोण होना व्यक्ति को भाग्यवान बनाता है। अंगूठे का छोटा होना शुभ नहीं है। छोटे अंगूठे में काम विकृति भी पैदा हो सकती है। जिन व्यक्तियों का अंगूठा लचीला होता है और पीछे के ओर मुड़ जाता है वह लचीले स्वभाव वाले व्यक्ति होते हैं. ऐसे व्यक्तियों में परिस्थिति के अनुसार खुद को ढाल लेने की योग्यता होती है. इन खूब धन कमाने की चाहत होती है लेकिन प्रयास करने पर भी धन बचाना इनके लिए कठिन होता है. यह अपने समय को बेकार नष्ट करने की बजाय कुछ उपायोगी कामों में लगाना पसंद करते हैं. अगर आपका अंगूठा मूव नहीं करता है तो इससे यह प्रदर्शित होता है कि आप पारंपरिक और कंजरवेटिव हैं.