Categories
धार्मिक

रावण ने औरतों के बारे में तीन गंदी बाते बताई कड़वी हैं मगर सच हैं…

धार्मिक


रावण के बारे में जब भी बातें होती है तो यही कहा जाता है कि वो एक प्रतापी, मायावी लेकिन दुष्ट राक्षस था, जिसे कि अपनी शक्तियों पर बड़ा घमंड था लेकिन उसकी एक गलती के कारण उसका घमंड चकनाचूर और उसकी सोने की लंका जलकर राख हो गई थी और उसकी वो गलती थी मां सीता का हरण। एक पराई स्त्री को जबरदस्ती अगवा करके उसे अपने घर में ले आना उसके विनाश का कारण बना।

जानिए वो स्थान जहां होती है रावण की पूजा

रावण के इस दुर्दशा का अंदाजा उसकी पत्नी मंदोदरी को शायद पहले ही हो गया था इसी कारण उसने अपने पति रावण से प्रार्थना की थी कि वो सीता को वापस करके भगवान राम से माफी मांग ले लेकिन रावण ने उसकी एक नहीं सुनी और जब युद्द करते-करते उसे अपनी हार का अंदेशा हुआ तो उसने महिलाओं के बारे आठ अवगुण बताये थे जिसका जिक्र बाल्मिकी की रामायण में तो नहीं लेकिन गोस्वामी तुलसीदास की रामचरित मानस में जरूर मिलता है।

जानिए मां सीता के बारे में कुछ खास बातें..

नीचे की स्लाइडों पर क्लिक कीजिये और जानिए रावण की ओर से बताये गये महिलाओं के 8 अवगुण..

Courage
साहस
रावण ने कहा था कि महिलाएं साहसी तो होती हैं लेकिन अक्सर अपने बल का प्रयोग वो गलत जगह करती हैं।

Lying
झूठ बोलती हैं
स्त्रियां अक्सर झूठ बोलती हैं क्योंकि वो कोमल हृदय वाली होती हैं जो कि अक्सर अपनों की बातें छुपाने के लिए झूठ बोल देती हैं और बुराई का कारण बनती हैं।
[18/02, 8:44 AM] Mammo: अस्थिर और चंचल
महिलाएं अस्थिर विचारधारा और चंचल चित्त वाली होती हैं इसलिए उनके मन को समझ पाना बहुत मुश्किल होता है।

Selfish and Dramatic
स्वार्थी और मायावी
महिलाएं स्वार्थी और जिद्दी होती हैं और अपनी जिद को पूरा करने के लिए वो कहानियां गढ़ने और मोहमायी मायावी खेल भी खेल जाती हैं।

Coward
घबरा जाती हैं
यद्दपि महिलाएं साहसी होती हैं लेकिन विकट परिस्थितियां आते ही वो बहुत जल्दी हथियार डाल देती हैं।

Foolish
महिलाएं मूर्ख होती हैं
महिलाएं मूर्ख होती हैं इसलिए अक्सर भावावेश में आकर वे गलत फैसले ले लेती हैं जिसका एहसास उन्हें बहुत देर में होता है।

Cruelty
दया नहीं दिखाती
वैसे तो महिलाएं कोमल हृदय वाली होती हैं लेकिन अगर कोई एक बार उनकी नजर से उतर जायें तो वो उसे आसानी से माफ नहीं करती हैं।
अपवित्र
रावण के मुताबिक महिलाएं भले ही कपड़ों से गहनों से खुद को सजायें लेकिन दिल से वो पवित्र नहीं होती हैं, वो साफ-सफाई का ध्यान नहीं रखतीं इस कारण रावण ने महिलाओं को अपवित्र कहा था।