Categories
धर्म धार्मिक

इस शख्स ने 180 साल तक जीने के लिए मंदिर में रोज किया…..अभी उम्र है 150 साल😨😨

धार्मिक खबर

कहते हैं दौलत ज्यादा होने से शौक भी बड़े होते जाते हैं. कुछ ऐसा हुआ है अमेरिकी उद्योगपति डेव एसेरी (Dave Asprey) के साथ जो 180 साल तक जीने का दावा कर रहे हैं. इस दावे के लिए उन्होंने अपने शरीर पर करोड़ों रुपये भी खर्च किए. साथ ही डेव ने ये भी कहा कि जल्द ही ये तकनीक दुनिया के सामने आ जाएगी. हालांकि इस अरबपति का ये दावा कितना सही है ये तो आने वाला वक्त ही बताएगा.

दरअसल, अमेरिकी कारोबारी और न्यूयॉर्क टाइम्स के बेस्टसेलिंग राइटर डेव एस्प्रे (Dave Asprey) ने अपने शरीर के बोन मैरो से स्टेम सेल निकलवाकर इन्हें फिर से ट्रांसप्लांट करवाया है. शरीर की बायोलॉजिकल क्लॉक को उल्टा घुमाने के लिए की गई बायोहैकिंग के पीछे उनकी इच्छा है कि वे 180 साल जिएं.

डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक, 47 साल के डेव का कहना है कि वे 2153 तक जीवित रहेंगे. लंबी उम्र पाने के अपने मेथड को उन्होंने बायोहैकिंग नाम दिया है. डेव का कहना है कि लंबी उम्र के लिए वे कोल्ड क्रायोथेरेपी चैंबर का इस्तेमाल करते हैं और कुछ समय तक उपवास भी रखते हैं.

अपने ही स्टेम सेल को निकालकर, फिर से अपने शरीर में डलवाने की मेडिकल प्रक्रिया पर प्रति सेशन करीब 18 लाख रुपये का खर्च आता है. डेव का मानना है कि यदि 40 से कम उम्र वाले इस तरीके को अपना लें तो 100 साल में भी वे खुश और खासे एक्टिव बने रह सकते हैं.

स्टेम सेल ट्रांसप्लांट करवाने के बारे में डेव ने बताया कि, ‘जब हम जवान होते हैं, तो शरीर में करोड़ों स्टेम सेल होती हैं. जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है, स्टेम सेल खत्म होने लगती हैं. इसलिए मैं इंटरमिटेंट फास्टिंग अपनाता हूं. इसमें जब शरीर भोजन नहीं पचा रहा होता है, तो वह खुद की मरम्मत करता है.’ डेव क्रायोथैरेपी पर भी भरोसा करते हैं.