Categories
धर्म धार्मिक

अगर आपके भी घर में रहता है कलह का माहौल तो ये एक उपाय ला सकता है आपके घर में खुशहाली…=

धार्मिक ख़बर

घर में नहीं चाहते हैं कलह तो अपनाएं ये वास्तु टिप्स

कभी-कभी हमारे साथ ऐसा होता है कि अचानक से हमे परेशानियों का सामना करना पड़ता है. वास्तु के मुताबिक घर में पंचतत्वों का संतुलन अगर ठीक भी बना रहता है लेकिन फिर भी परेशानियों का सामना करना पड़ता है. कई बार हम अपने परेशानियों का कारण समझ ही नहीं पाते हैं.

इसमें एक कारण ये भी होता है कि कई बार आपकी बुरी आदतें घर में वास्तु दोष उत्पन्न कर देती हैं. जिन्हें आपको ये आदतें बदलने की जरूरत है. चलिए बताते हैं आपको कौन सी हैं वो आदतें जिन्हें आपको बदलने की जरूरत है.

ध्यान रखें कि घर में पुराने कभी भी जूते-चप्पल ना रखें. ऐसा करने से नकारात्मक ऊर्जा पैदा होती है. इसके अलावा कभी भी जूते-चप्पल इधर-उधर पड़े होने से घर में कलह बढ़ता है और आपकी संबंध खराब होते हैं. साथ ही शनि का भी दुष्प्रभाव का प्रभाव रहता है. शनि को पैरों का कारक माना गया है कि इसलिए पैरों से संबंध रखने वाली किसी भी वस्तु को व्यवस्थित रखना चाहिए.

वहीं इसके अलावा बार बार कहीं भी थूक देने की आदत होती है. ऐसा करने से आपके यश, सम्मान और आपकी प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचता है. आपकी इस आदत से बुध और सूर्य ग्रह खराब प्रभाव देना शुरू कर देते हैं

इसके अलावा रात में कभी भी किचन में झूठे बर्तन नहीं छोड़ने चाहिए. इससे घर में वास्तु दोष पैदा होता है. इसी तरह कई लोगों की थाली में ही हाथ धोने और जूठी थाली को वहीं छोड़कर उठ जाने की आदत होती है. ये आदत शास्त्र विरुद्ध है. कहा जाता है कि ऐसे लोगों को जीवन में संघर्ष का सामना करना पड़ता है. ऐसी आदतों से चंद्र और शनि खराब हो जाते हैं.

वहीं अगर आपके घर में मेहमान आए तो उसे पानी के लिए जरूर पूछे. यदि आप भी किसी को पानी की नहीं पूछते तो राहु ग्रह कुपित हो जाता है, जिसके परिणाम स्वरुप घर पर अचानक कोई परेशानी आ सकती है.

इसके अलावा घर में पौधों का सूखना भी अशुभ माना जाता है. ऐसा कहा जाता है कि पौधों का सूखना तरक्की में बाधा बनता है. पौधों को सुबह और शान को पानी देने से सूर्य, बुध और चंद्र संबंधी परेशानियां दूर रहती हैं. साथ ही जीवन भी तनाव