Categories
धर्म

राम मंदिर के लिए दान इन तीन तरीकों से कर सकते हैं

अभी तक प्रभु श्री राम जन्मभूमि निर्माण के लिए 1000 करोड़ का दान आया है इससे प्रतीत हो रहा है कि राम भक्त किस तरह उत्साहित है अपने आराध्य के मंदिर निर्माण हेतु।

किस तरह डोनेशन कर रहे हैं लोग?

दरअसल, राम मंदिर निर्माण के लिए एक ट्रस्ट का निर्माण किया गया है, जिसका नाम श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र. सभी लोग इस ट्रस्ट को अपना दान दे रहे हैं और इसे इनकम टैक्स में भी छूट दी गई है. अगर डोनेशन के तरीकों की बात करें तो सीधे कैश देकर, ट्रस्ट के अकाउंट में भेजकर या ऑनलाइन माध्यम से दान दिया जा सकता है.

सीधे कैश से पैसे जमा करने पर आपको उसी वक्त रसीद दे दी जाएगी, जबकि ऑनलाइन माध्यम से पैस देने पर आपको सीधे मेल पर जनरेट रसीद मिल जाएगी और बैंक अकाउंट में ट्रांसफर करने वाले लोग आधिकारिक वेबसाइट से रसीद जनरेट कर सकते हैं.

क्या है बैंक अकाउंट नंबर?

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र की आधिकारिक वेबसाइट पर बैंक अकाउंट से ट्रांसफर करने वाले लोगों के लिए ऑप्शन दिया गया है. इसमें ट्रस्ट से जुड़े सभी बैंक अकाउंट की लिस्ट दी गई है. जहां से आप बैंक अकाउंट डिटेल देखकर ट्रस्ट के बैंक अकाउंट में पैसे जमा करवा सकते हैं. ट्रस्ट की ओर से तीन बैंक अकाउंट की डिटेल दी गई है, जिसमें स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, पंजाब नेशनल बैंक और बैंक ऑफ बड़ौदा का नाम शामिल है. आप तीनों बैंक में से किसी को भी पैसे भेज सकते हैं.

इनकम टैक्स को लेकर क्या है नियम?

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र को मंदिर के लिए दिए गए 50 फीसदी चंदे पर सेक्शन इनकम टैक्स एक्ट, 1961 sec 80G(2)(b) के तहत टैक्स की छूट है. यानी मंदिर निर्माण के लिए दिए चंदे में आयकर की छूट मिलेगी. दरअसल, केंद्र सरकार ने श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र को ऐतिहासिक और पूजा स्थल के रूप में माना है.

कैसे दे सकते हैं चंदा?

आप तीन तरीके से मंदिर निर्माण के लिए चंदा दे सकते हैं. खास बात ये है कि अगर आप 20 हजार रुपये से ज्यादा रुपये चंदे के रुप में देना चाहते हैं तो आपको ऑनलाइन माध्यम से या चैक-डीडी के माध्यम से देने होंगे. दान करने वाले लोग 20 हजार रुपये तक का भुगतान कैश के रुप में कर सकते हैं.

छप रहे हैं कूपन

रिपोर्ट्स के अनुसार, अब राम मंदिर निर्माण के चंदे का अभियान चलाया गया है, जिसके लिए कूपन छपवाए गए हैं. इसमें 10 रुपये से लेकर 1000 रुपये तक की रसीद होगी. इसमें आप अपनी इच्छानुसार पैसे दे सकते हैं.