Categories
धार्मिक

जानिए वर्ष 2021 में कैसी रहेगी आपकी लव लाइफ ❤️::क्या बन रहा है कोई नया संयोग या टूटने वाला है रिश्ता…..

धार्मिक

वर्ष 2021 किसी के लिए मिलेजुले परिणाम लाएगा तो किसी के लिए अच्छे फल की प्राप्ति होगी। वहीं, ज्योतिष गणना के आधार पर कुछ राशि के जातकों को इस वर्ष प्रेम जीवन में सफलता प्राप्त होगी। ज्योतिषाचार्य अनीष व्यास के अनुसार, मिथुन, तुला, मकर, कुंभ राशि के जातकों को लव-लाइफ में सफलता हासिल हो सकती है। आइए जानते हैं कि वर्ष 2021 में आपकी लव-लाइफ कैसी रहेगी।

मेष:

यह वर्ष मेष राशि के लोगों के प्रेम जीवन के लिए मिश्रित परिणाम लेकर आएगा। यदि आप पहले से ही किसी प्रेम संबंध में हैं तो इस वर्ष आप की उम्मीदें अपने प्रियतम से कुछ अधिक होंगी जिस कारण कभी-कभी आप दोनों के बीच तकरार हो सकती है। परंतु अप्रैल से सितंबर का समय आपके प्रेम जीवन के लिए बेहद खास साबित होगा। इस दौरान आप दोनों एक दूसरे के प्रेम में लिप्त नजर आएंगे और आप दोनों विवाह करने का फैसला तक ले सकते हैं। लेकिन इन सब के बावजूद भी आप दोनों का प्रेम अटूट रहेगा और आपका रिश्ता पूरे वर्ष अच्छे से चलता रहेगा। यदि आप पहले से किसी रिलेशनशिप में नहीं है तो इस महीने में आपकी इच्छा भी पूरी हो सकती है और आपके जीवन में किसी का आगमन हो सकता है।

प्रेम जीवन में इस वर्ष मिले-जुले परिणाम देखने को मिलेंगे। इस वर्ष आपको अपने रिलेशनशिप को लेकर तनाव रह सकता है और आप दबाव भी महसूस कर सकते हैं। हालांकि, समय के साथ-साथ आपकी लव लाइफ में उतार-चढ़ाव भी देखने को मिलेंगे। संभव है कि आपका साथी आपको आपकी ज़रूरत के अनुसार समय न दे पाए, हालांकि इसके बावजूद भी आप दोनों अपने हर विवाद और आपस की नाराजगी को समय-समय पर सुलझाने के लिए प्रयास करते दिखाई देंगे।इस वर्ष के अंत में आपको अपने प्रेम जीवन और उसके भविष्य के बारे में एक महत्वपूर्ण निर्णय लेने की आवश्यकता होगी। यदि आप सिंगल है तो आपके जीवन में कोई दस्तक देगा और आप एक नए रिश्ते में सम्मिलित हो जाएंगे। आप अपने रिश्ते को एक नई रचनात्मकता देंगे और उसको मजबूत बनाएंगे। यदि आप पहले से ही रिलेशनशिप में है तो आप अपने रिश्ते में स्थिरता को महत्व देते हुए अपने साथी से सभी गिले-शिकवे दूर करके अपने प्रेम जीवन को मधुर बना पाने में सफल होंगे।

मिथुन राशि के जातको को इस वर्ष अच्छे फलों की प्राप्ति होगी। जो अविवाहित प्रेमी जातक विवाह के इच्छुक हैं उनके लिये विवाह के योग बन रहे हैं। यह समय आपकी रोमांटिक लाइफ के लिये काफी अच्छा व उपलब्धियों भरा कहा जा सकता है। आपको सलाह दी जाती है हर मोड़ पर अपने साथी का साथ निभाते रहिये और अपने रिश्ते में पारदर्शिता बनाए रखिये। इस वर्ष शनि और बृहस्पति की युति आपके पार्टनर की सेहत पर प्रभाव डाल सकती है इसलिए अपने जीवन साथी या प्रेमी की सेहत का ख्याल अवश्य रखें। और आप अपने रिश्ते को इतना मजबूत बना लें कि विपरीत परिस्थितियों में भी उसमें कोई परेशानी उत्पन्न ना हो। यदि आपका जीवनसाथी कार्यरत है तो इस वर्ष में उन्हें कोई विशेष पदोन्नति प्राप्त हो सकती है।

आपकी राशि में प्रेम और संबंध के घर के स्वामी मंगल का शुक्र और केतु पांचवें घर में दृष्टि दे रहा है, जो आपके प्रेम जीवन में बाधा लाने का कारण बन सकता है। जिसके परिणाम स्वरूप प्रेमी जातकों के बीच के संबंध थोड़े तनावपूर्ण हो सकते हैं। साथ ही आप दोनों के बीच कुछ ग़लतफहमी भी पैदा हो सकती है। हालांकि वहीं दूसरी तरफ़ यह समय उन लोगों के लिए अच्छा होने वाला है जो अपने लिए पार्टनर की तलाश कर रहे हैं। मार्च के मध्य से प्रेमी जातकों के जीवन में कुछ समस्याएं खड़ी हो सकते हैं, लेकिन इसके बाद मार्च के मध्य से लेकर अप्रैल तक का समय आपके प्रेम जीवन के अनुकूल रहेगा। इस अवधि के दौरान आप अपने पार्टनर के ज्यादा करीब आएँगे और उनके साथ सब कुछ साझा करने में ज्यादा सक्षम महसूस करेंगे। इस समय के दौरान प्रेम में पड़े जातक थोड़ा तनाव में वृद्धि महसूस कर सकते हैं, इसीलिए आपको सलाह दी जाती है कि समय-समय पर अपने साथी के साथ अपने बीच खड़े हुए किसी भी विवाद और ग़लतफहमी को हल करते रहें।

सिंह:

इस वर्ष आपको अपने प्यार के मामलों में वांछित परिणाम हासिल करने के लिए अत्यधिक मेहनत और प्रयास डालने की जरूरत है और तभी आप अपने प्यार में मन-चाहा परिणाम हासिल कर सकेंगे। सिंह राशि के जातकों के लिए प्रेम और रोमांस का स्वामी बृहस्पति उनके छठे भाव में है और वहीं सूर्य आपके पांचवें भाव में है, जो इस बात को इंगित करता है कि आपके रिश्ते में इस दौरान किसी बड़े-बुजुर्ग के हस्तक्षेप की वजह से समस्याएं आ सकती हैं। इस अपने प्रेम जीवन या विवाहित जीवन में कुछ बदलाव की उम्मीद करेंगे। इस दौरान ऐसा भी मुमकिन है कि आप अपने मौजूदा पार्टनर या जीवनसाथी के प्रति थोड़ा उखड़ा-उखड़ा और कम प्रतिबद्ध महसूस करें और आप अपने लिए प्रेम के लिहाज से बेहतर विकल्प ढूंढने के लिए अपने रिश्ते से बाहर भटक सकते हैं। आप अपने रिश्ते में कुछ नए क्षेत्रों और विकास की संभावनाएं तलाश सकते हैं। यह समय अपने प्रियजनों के साथ बातचीत करने और आप दोनों के बीच की आपसी समझ को बढ़ाने के लिए बेहद शुभ साबित होगा। इसके अलावा बृहस्पति का गोचर आपके जीवन के काम को काफी हद तक प्रभावित करेगा। बृहस्पति का यह परिवर्तन आपकी मजबूत प्रवृत्ति और भावनाओं द्वारा शासित रहने वाला है।

कन्या:

जहां तक बात आपके प्रेम जीवन की है तो इस दौरान आप कुछ असमंजस की स्थिति में रहने वाले हैं। इस वर्ष आपको अपने और अपने साथी के बीच मतभेद नजर आएँगे। अगर आप अपने झगड़ों गलतफहमियों और लड़ाइयों को संभालते नहीं है तो स्थिति बद से बदतर हो जाएगी। आपके रिश्ते में होने वाली किसी भी समस्या का मुख्य कारण आप दोनों के बीच में चल रही ग़लतफहमी और आप दोनों का गुस्सा है, इसीलिए आपको सलाह दी जाती है कि इस दौरान शांति से रहे और अपने रिश्ते को वापस सही करने के लिए अपने पार्टनर से अच्छे ढंग से बातचीत करें। अपने किसी क़रीबी से सावधान रहें। अन्यथा वह आपके और आपके पार्टनर के बीच के रिश्ते को खराब करने के मकसद से आप दोनों के बीच समस्याएं पैदा कर सकता है। ऐसे में किसी भी स्थिति को समझदारी से संभाले और धैर्य से काम लें। बृहस्पति के पांचवें घर में गोचर के बाद सितंबर के महीने से आपको अपने जीवन में सकारात्मक परिणाम दिखने लगेंगे।

तुला:

यह वर्ष तुला जातकों के लिए बेहद ही अनुकूल रहने वाला है क्योंकि इस वर्ष आपको अपने प्रेम जीवन में सफलता प्राप्त होगी। साथ ही अगर आप अपने पार्टनर से शादी करने का विचार बना रहे हैं, तो इस साल वह भी संभव है। अप्रैल में मिथुन राशि के नौवे घर में मंगल का गोचर आपके लिए प्रेम के लिहाज से बेहद ही शुभ समय लेकर आएगा। साथ ही इस दौरान आप किसी विशेष इंसान से भी मिल सकते हैं। प्रेम और संबंधों का स्वामी शनि इस दौरान बृहस्पति के साथ हैं, जिसके चलते आपको मिश्रित परिणाम हासिल होंगे। इस साल के अंत में आपको प्रेम के संबंध में सफलता प्राप्त होगी। सितंबर प्यार और रोमांस के लिए बेहद लाभदायक साबित होने वाला है क्योंकि इस समय अगर आपको कोई भी बात जाहिर करनी है, उसके लिए समय बेहद ही उपयुक्त साबित होगा। बारहवें घर में मंगल का गोचर अनुकूल साबित होगा।

वृश्चिक:

इस वर्ष वृश्चिक राशि के जातकों को औसत परिणाम हासिल होंगे। पंचम भाव पर शनि के पहलू के परिणाम स्वरूप आपको परिवार के बुजुर्गों के विरोध का सामना करना पड़ सकता है। हालांकि नए प्रेम संबंधों को शुरू करने के लिए यह साल अनुकूल साबित होगा। पार्टनर के बीच कुछ वैचारिक मतभेद हो सकते हैं, लेकिन अगर आप आपस में बात करते हैं, एक दूसरे की बात को समझते हैं और एक दूसरे से अपने मन की बात शेयर करते हैं, तो आप इस परेशानी से उबर सकते हैं। मंगल के गोचर के प्रभाव स्वरूप प्रेम संबंधों के लिए फरवरी अति उत्तम साबित हो सकता है। हालांकि मार्च में आप केवल बातों से नहीं, बल्कि काम के लिहाज़ से आश्वस्त होने में ज्यादा विश्वास रखेंगे। 6 अप्रैल को बृहस्पति कुंभ राशि में गोचर करेगा। यह समय विवाह के लिए बेहद अनुकूल साबित हो सकता है।

धनु:

आने वाला नया वर्ष 2021 प्रेम संबंधों के लिए मिश्रित परिणाम लेकर आएगा। इस समय आपको अपने अच्छे प्रेम संबंध स्थापित करने के लिए कई शुभ अवसरों की प्राप्ति होगी। हालांकि इस समय आप अत्यधिक भावुक और संवेदनशील होंगे। फरवरी में अपने पार्टनर के साथ छुट्टी पर जा सकते हैं। इस दौरान रिश्ते में आ रही हर गलतफहमी दूर करने में मदद मिलेगी। आपके पंचम भाव में लाल ग्रह मंगल की उपस्थिति कई प्रेमी जातकों के जीवन में विवाद की स्थिति को जन्म दे सकती है क्योंकि मार्च का महीना संबंधों में खटास लेकर आएगा, इसलिए आपको अपने गुस्से पर नियंत्रण रखने और बातचीत करते समय अपने शब्दों का चयन सोच-समझकर करने की सलाह दी जाती है। हालांकि अप्रैल, जुलाई और सितंबर धनु राशि के प्रेम संबंधों के लिए बेहद फ़ायदेमंद साबित होगा।

मकर:

आपके पंचम भाव में राहु की उपस्थित आपको प्रेम संबंधों में अपार सफलता दिलाने का कार्य करेगी। आपकी राशि में राहु की इस शुभ स्थिति के कारण आपके पार्टनर से संबंध बेहतर हो सकेंगे, जिससे आप दोनों को एक दूसरे के साथ अच्छा समय व्यतीत करने का अवसर भी मिलेगा। यदि आप अभी तक सिंगल है, तो इस वर्ष धनु राशि में शुक्र का होने वाला गोचर आपको कार्यस्थल पर किसी विपरीत लिंगी व्यक्ति से मुलाक़ात करने का अवसर दे सकता है। इस दौरान आप दोनों कार्यक्षेत्र पर साथ मिलकर किसी परियोजना पर कार्य करते हुए अपने संबंध बेहतर कर सकेंगे। साल 2021 प्रेम और रोमांस के लिए अच्छा साबित होगा क्योंकि इस समय आप अपने अहम को दूर कर पूर्व के हर विवाद, झगड़े, और ग़लतफहमी को हल कर सकेंगे।

कुंभ:

इस राशि के जातकों को प्रेम संबंधों में अनुकूल परिणाम मिलेंगे क्योंकि आपके प्रेम और रोमांस के भाव के स्वामी वर्ष की शुरुआत में ही लाभ और आय के भाव में मौजूद होंगे। जिसके कारण कुंभ राशि के प्रेमी जातकों को इस समय अपने रिश्ते के प्रति अधिक गंभीर और प्रतिबद्ध होने में मदद मिलेगी। इसके साथ ही कुंभ राशि में गुरु बृहस्पति का गोचर, उनके प्रेम जीवन में सकारात्मक परिणाम लाएगा क्योंकि इस दौरान गुरु बृहस्पति की दृष्टि आपके पंचम भाव पर होगी। वो प्रेमी जातक जो लंबे समय से अपने रिश्ते के प्रति प्रतिबद्ध हैं, उन्हें इस वर्ष प्रेम विवाह के बंधन में बंधने के अवसर मिलेंगे।

मीन:

प्रेम संबंध में इस वर्ष मीन राशि के जातकों को मिश्रित परिणाम मिलेंगे क्योंकि प्रेम और रोमांस के पंचम भाव पर शनि की दृष्टि का प्रभाव, इस वर्ष प्रेमी जातकों के रिश्ते में कई चुनौतियां लेकर आएगा। इस दौरान आप पर गुरु बृहस्पति की कृपा भी होगी। विशेष रूप से इस साल के शुरुआती महीने प्रेम संबंधों लिए सामान्य से कम ही अच्छे रहेंगे। ऐसे में आपको सलाह दी जाती है कि अपने गुस्से पर नियंत्रण रखें, एक दूसरे पर विश्वास करें। जुलाई में बुध का कर्क राशि में होने वाला गोचर प्रेम संबंधों के लिए अच्छा होगा। खासतौर पर अगर आप लंबे समय से किसी प्रेम संबंध में हैं, तो आपके रिश्ते में इस दौरान नयापन आने की संभावना है। सितंबर में प्रेम संबंधों में चुनौतियां भी आ सकती हैं।