Categories
News

अ’गर नौक’री की है तला’श तो बजरं’गबली के क’रें ये उ’पाय, मि’लेगी नौ’करी, र’हेगें खुश’हाल…

धार्मिक खबर

शनिवार के दिन केवल शनि’देव की ही नहीं ब’ल्कि हनुमान जी की भी अ’राधना की जाती है। रा’मायण के अनुसार, वे जानकी के अत्य’धिक प्रिय हैं। ऐसी मान्य’ता है कि धरती पर जिन 7 मीषि’यों को अम’रत्व का वरदान प्राप्त था उनमें से एक बज’रंगबली भी थे। साथ ही ऐसा भी कहा जाता है कि हनुमान जी का अव’तार भगवान रा’म की सहायता के लिए ही हुआ था। हनुमान जी को बजरंगबली भी कहा जाता है। इन्हें पव’न-पुत्र भी कहा जाता है क्योंकि वा’यु अ’थवा प’वन ने हनुमान जी के पा’लन-पो’षण में अ’हम भू’मिका नि’भाई थी। कहा जाता है कि इनकी अराधना करने से व्यक्ति की मनोका’मना पूरी हो जाती हैं। अगर कोई व्यक्ति नौकरी-रोजगार की तलाश में हैं और हर तरफ से उसे नि’राशा ही हा’थ लग रही है तो उन्हें इन उपायों को जरूर आजमा’ना चाहिए।

पहला उपाय- अगर आपका व्यपार नहीं चल रहा है या आपको नौकरी नहीं मिल रही है तो आप मंदिर में बैठकर 11 मंगलवार या शनिवार को सुंद’रकांड का पाठ करें। अगर इसकी शु’रुआत हनुमान जयंती पर करें तो बेहतर होगा।

दूसरा उपाय- अगर आप नौकरी के लिए इंट’रव्यू देने जा रहे हैं तो जेब में लाल रूमाल या कोई लाल कपड़ा रख लें। हा’लांकि, यह रुमा’ल हनुमान जी के च’रणों का होना चाहिए।

तीसरा उपाय- हर दिन हनुमान चा’लीसा का पाठ करना चाहिए। साथ ही हनुमान जी को पांच शनि’वार या मंगलवार को मंदिर में जाकर चो’ला च’ढ़ाना चाहिए। इससे हनुमान जी बेहद प्र’सन्न हो जाते हैं। इसके अलावा 11 मंगलवार को हनुमान जी को पान और पू’री सु’पारी भी अ’र्पित करने चाहिए।