Categories
News

पै’सों की परेशा’नियों को दू’र क’रते है ये अचू’क वा’स्तु उ’पाय, घ’र में आ’ती है खुशहा’ली…

धार्मिक खबर

अक्स’र लो’गों को सफ’लता के हिसा’ब से तर’क्की न’हीं मि’ल पा’ती है। क’ई बा’र घ’र में पै’सा भी न’हीं टिक’ता है औ’र को’ई न को’ई बी’मार रह’ता है। अ’गर आ’पके घ’र में भी ऐ’सा हो र’हा है तो इस’की व’जह वास्तु’दोष भी हो सक’ता है। क’ई बा’र ह’में अ’पने घ’र में को’ई दो’ष नज’र न’हीं आ’ता औ’र ह’म अ’पनी परेशानि’यों के लि’ए दू’सरों को जिम्मेदा’र ठ’हरा दे’ते हैं। जानि’ए वास्तु’दोष दू’र कर’ने के लि’ए ये आ’सान, जि’न्हें आज’माकर आ’प अ’पने घ’र में खुशहा’ली ला स’कते हैं।

. सुब’ह स्ना’न के बा’द सूर्य’देव को ज’ल च’ढ़ाएं औ’र अप’ने घ’र के मं’दिर में पू’जा-अर्च’ना क’रें। पू’जा के बा’द घ’र के मु’ख्य दर’वाजे प’र स्वा’स्तिक ब’नाएं। उ’स प’र अ’क्षत औ’र ज’ल च’ढ़ाएं। ऐ’सा ह’र रो’ज क’रें। घ’र के मेन’गेट प’र प्रति’दिन न’या स्वा’स्तिक ब’नाएं औ’र पह’ले से ब’ना स्वा’स्तिक सा’फ क’र दें। क’हते हैं कि ऐ’सा कर’ने से मां ल’क्ष्मी घ’र की ओ’र आक’र्षित हो’ती हैं।

2. अ’गर आ’पके जीव’न में ल’गातार मुश्कि’लें ब’ढ़ र’ही हैं औ’र आप’को ल’गता है कि घ’र में को’ई वास्तुदो’ष है। ऐ’से में वास्तुदो’ष को दू’र क’रने के लि’ए आ’प घ’र के मे’नगेट के दा’ईं ओर तुल’सी का पे’ड़ लगा’एं औ’र घ’र के बा’ईं ओ’र के’ले का पे’ड़ ल’गाएं। ध्या’न र’हे कि पे’ड़ों की लं’बाई ज्या’दा न’हीं हो’नी चाहि’ए।

3. अग’र आ’प घ’र-मका’न खरीद’ना चा’हते हैं, लेकि’न चा’ह क’र भी प्लॉ’ट न’हीं ख’रीद पा र’हे हैं तो इस’के लि’ए य’ह उ’पाय अज’मा स’कते हैं। वा’स्तु शा’स्त्र के अनु’सार, उ’स प्लॉ’ट प’र अ’नार का ए’क पे’ड़ लगा’कर छो’ड़ दें। इ’स उपा’य से घ’र ब’नने का यो’ग ज’ल्द बन’ता है।