Categories
धार्मिक

मंगलवार के दिन हनुमान जी की इस खास प्रतिमा की पूजा करने से नौकरी की सम’स्या होती है दूर…

धर्म समाचार

हनु’मान जी (Hanuman Ji) राम भक्त हैं और उनकी शरण में जाने मात्र से भक्तों के सभी संकट दूर हो जाते हैं. हनुमान जी के भ’क्तों पर सभी देवी देवताओं की भी विशेष कृपा रहती है.

हनुमान जी (Hanuman Ji) अपने भक्तों पर आने वाले तमाम तरह के क’ष्टों (Pains) और परेशा’नियों (Problems) को दूर करते हैं. ऐसी मान्यता है कि भगवान हनुमान (Lord Hanuman) बहुत जल्द प्रसन्न होने वाले देवता हैं. उनकी पूजा पाठ में ज्या’दा कुछ करने की जरूरत नहीं होती. शायद यही वजह है कि आज के समय में हनुमान जी के भक्तों की संख्या भी बहुत अधिक हो गई है. हनुमान जी राम भक्त हैं और उनकी शरण में जाने मात्र से भक्तों के सभी संकट दूर हो जाते हैं. हनु’मान जी के भक्तों पर सभी देवी देव’ताओं की भी विशेष कृपा रहती है. अगर आप हनुमान जी के भक्‍त हैं और क‍िसी व‍िशे’ष मुराद के पूरी होने के ल‍िए उनकी आराधना कर रहे हैं तो ध्‍यान रखें क‍ि उसी के मुता’ब‍िक ही पवनसुत की प्रत‍िमा और उसे स्‍था’प‍ित करने की द‍िशा होनी चाहिए. ज्योतिष शा’स्त्र के मुता’बिक अगर कुछ बातों का ध्‍यान रख ल‍िया जाए तो इच्छित मनो’कामना जल्‍दी ही पूरी हो जाती है. आइए जानते हैं अपनी मनोकामना अनुसार हनुमान जी की किन प्रति’माओं की करनी चाहिए पूजा.

इस द‍िशा में प्रतिमा रखने से मिलता है लाभ

यूं तो पवन’पुत्र की कई ऐसी प्रत‍ि’माएं या तस्‍वीरें हैं ज‍िनकी पूजा से मनु’ष्‍य के सारे कष्‍ट दूर हो जाते हैं लेक‍िन क‍िसी व‍िशेष मन्‍नत की पूर्ति या फिर घर की दुख-तक’लीफों को दूर करना हो तो हनुमानजी की व‍िशेष मुद्रा की प्रतिमा रखनी चाहिए. घर में उत्तरमुखी और दक्षिण’मुखी हनुमानजी की पूजा करनी चाह‍िए. मान्‍य’ता है क‍ि ऐसा करने से सभी देवी-देवताओं का आशी’र्वाद मिलता है. साथ ही घर में सुख-समृ’द्धि आती है. मान’स‍िक क्‍लेश की सम’स्‍या भी दूर हो जाती है. लेक‍िन अगर कार्य’क्षेत्र में कोई सम’स्‍या हो तो घर में और कार्य’स्‍थल पर सफेद रंग की प्रत‍िमा वाले हनुमा’नजी की पूजा करनी चाहिए.

नौकरी पर हो द‍िक्‍कत तो रखें ऐसी प्रत‍िमा

यदि आपके नौकरी पर संकट हो अथवा बिज’नेस या नौकरी में तरक्की नहीं हो रही तो आपको सफेद रंग वाले हनुमान जी की पूजा करनी चाहिए. इससे तरक्की के रास्ते खुलते हैं और बिजनेस भी बढ़ता है. मान्‍यता है क‍ि जिस घर में हनुमा’नजी की ऐसी मूर्ति की पूजा की जाती है, वहां के सदस्‍यों के जीवन में क‍िसी भी तरह की सम’स्‍या नहीं आती. साथ ही कार्यक्षेत्र की भी द‍िक्‍कतें दूर हो जाती हैं. इसके अलावा भगवान श्रीराम की सेवा में लीन हनुमानजी की मूर्ति रखने से घर में कभी किसी चीज की कमी नहीं होती. घर में भी सुख-शांति और धन-धान्य भरा रहता है.

ये प्रत‍िमा पूरी करती है मनोका’मना
अगर क‍िसी व‍िशेष म’न्‍नत के ल‍िए हनुमानजी की पूजा कर रहे हैं तो हनुमान जी की विभिन्न मु’द्राओं वाली तस्वीर रखकर उनकी पूजा करें. ऐसा करने से जातक की असा’ध्य मनोका’मनाएं भी पूर्ण हो सकती हैं. इसके लिए हनु’मान जी कुछ खास मुद्रा वाली फोटो अपने पूजा स्थल में विधि’वत स्था’पित करें और उनकी नियमित पूजा करें. सुबह-शाम हनु’मान जी के सामने दीपक जलाएं और अपनी मनोका’मना पूर्ति की प्रा’र्थना करें. ऐसा न‍िय’म‍ित रूप से 41 मंगलवार और शन‍िवार तक करें. मान्‍यता है क‍ि ऐसा करने से जल्‍दी ही मनोवां’छित काम’नाओं की पूर्ति हो जाती है.

पर‍िवार में प्रेम-स्‍नेह की कमी हो तो इस प्रतिमा की करें पूजा
अगर घर के सद’स्‍यों यानी क‍ि भाई-बहनों या माता-पिता में प्रेम न हो तो वहां हनु’मान जी की ऐसी तस्वी’र लगाएं ज‍िसमें वह श्रीरा’म, माता सीता और लक्ष्म’णजी की पूजा कर रहे हों. इस तस्वीर की पूजा से सभी देवों का आशी’र्वाद मिलता है और प्रेम भावना का विका’स होता है. वहीं परिवार के मान-सम्मान और उन्न’ति के ल‍िए घर में सूर्य की उपासना करते हुए हनुमानजी की पूजा करनी चा’हिए. इससे घर में सकारा’त्मक ऊर्जा का प्रवाह होता है और सभी कार्य बनने लगते हैं. अधूरे कार्य भी पूरे होने लगते हैं लेक‍िन ध्‍यान रखें क‍ि जो भी प्रत‍िमा रखें उसकी न‍िय’म‍ित रूप से उपा’सना जरूर करते रहें.