Categories
News

ए’क मु’ठ्ठी उ’ड़द की दा’ल के ये उपा’य चम’का दे’गे आप’की किस्म’त, ध’न से भ’र जा’एगा आ’पका घ’र, जा’निए कै’से क’रें…

धार्मिक खबर

आ’ज के सम’य में पै’सा कमा’ने के लि’ए इं’सान दि’न औ’र रा’त क’ड़ी मेह’तन क’रता है। फि’र भी दे’खने में आ’ता है कि कु’छ लो’गों को अत्यधि’क मेह’नत क’रने के बा’द भी का’र्यों में सफ’लता न’हीं मि’ल पा’ती है। बन’ते का’र्य भी बिग’ड़ जा’ते हैं आर्थि’क परेशा’नियां ब’नी  रह’ती हैं। क’हा जा’ता है कि क’र्म फ’ल के सा’थ भा’ग्य का अ’च्छा हो’ना भी आ’वश्यक हो’ता है। य’दि भा’ग्य अ’च्छा हो तो व्य’क्ति क’म प्रया’स में भी ब’हुत ज’ल्दी सफल’ता प्रा’प्त क’र ले’ता हैं तो व’हीं भा’ग्य के सा’थ न हो’ने प’र जी’वन में ए’क के बा’द ए’क बा’धाएं ल’गी रह’ती हैं। बहु’त प’हले से कु’छ उपा’य प्रच’लन में हैं, जिन’को क’रके आ’प भी ‘सम’स्याओं से निजा’त पा सक’ते हैं। आ’ज जानें’गे उ’ड़द के कु’छ ऐ’से ही उ’पाय के बा’रे में जिन’को कर’ने से च’मक सक’ती है आप’की कि’स्मत

य’दि आ’पके पा’स पै’से आ’ते हैं औ’र फा’लतू ख’र्च हो जा’ते हैं या’नि की अग’र आ’पके पा’स पै’से टिक’ते न’हीं हैं तो कि’सी शनि’वार के दि’न का’ली उड़’द की दा’ल को भीगो’कर पी’स लें औ’र उ’सके पकौ’ड़े बना’कर का’ले कु’त्ते को खि’लाएं। मा’ना जा’ता है कि इस’से विपदा’एं औ’र बा’धाएं ट’ल जा’ती हैं। ध’न संबं’धित स’मस्याओं से मु’क्ति मि’लकर ध’न में वृ’द्धि हो’ती है।

य’दि आ’प चा’हते हैं कि आ’पके पा’स प्र’चुर मा’त्रा में ध’न ब’ना र’हे औ’र आप’के ध’न की वृ’द्धि हो’ती र’हे तो शनिवा’र के दि’न का’ली उड़’द की दा’ल, थो’ड़ा सा द’ही औ’र ए’क चुट’की सिं’दूर लेक’र पीप’ल के पे’ड़ के नी’चे र’ख आ’एं।