Categories
धर्म

इन पौधों पर वास करती हैं श्रापित अप्स’राएं, घर में लगाएं तो मां लक्ष्मी रहेगी रुष्ठ!

धर्म समाचार

पेड़-पौधे हमारे जीवन में बहुत अहिम’यत रखते हैं। हिंदू धर्म में भी पौधे धार्मि’क मह’त्व रखते हैं प्राचीन काल से इनकी पूजा की जा रही है। हमारे ऋषि मुनि भी पेड़ों के नीचे एकांत वाता’वरण में तप’स्या करते थे। वहीं वास्तु’शास्त्र की नजर से देखें तो भी इनका आपकी जिंदगी से गहरा संबंध होता है। घर में एक पॉजि’टिव ओरा बनाए रखने में पौधे हमारी मदद करते हैं। माहौल को खुश’नुमा बनाते हैं।

पेड़ पौधों का संबंध लक्ष्मी से भी है। सुगं’धित पौधे मां लक्ष्मी को अति प्रिय है लेकिन कुछ पौधे नकारा’त्मकता का प्रती’क भी माने जाते हैं जिन्हें घर में लगाने से मां ल’क्ष्मी रुष्ठ हो जाती हैं और घर पर दरि’द्रता आलस का वास हो जाता है।

चलिए इन पौधों के बारे में ही आपको बताते हैं।

पारि’जात का पौधा

पारि’जात जिसका दूसरा नाम हरसिंगार है। इस पौधा का जिक्र कई प्राचीन ग्रंथों में मिलता हैं। मान्य’ताओं के अनुसार, इस पौधे की उत्प’त्ति समुद्र मं’थन के दौरान हुई थी और यह मां लक्ष्मी का प्रिय पौधा है और इसका स्थान इंद्र के स्व’र्ग में है इसलिए तो मां लक्ष्मी की कृपा हमेशा इंद्र’देव पर बनी रही। घर के सामने व मुख्य द्वार पर पारि’जात का पौधा लगा होना बेहद शुभ माना जाता है।

माना जाता है इस पौधे का वास जहां होता है वहां मां लक्ष्मी वास करती हैं घर में बरकत सुख समृ’द्धि बनी रहती हैं और परिवा’रिक सद’स्यों की सेहत भी सही रहती है लेकिन कुछ पौधे ऐसे भी हैं जिन्हें वेद व मान्य’ताओं के अनुसार, घर में लगाना अशुभ माना जाता है। इन पौधों पर आसुरी शक्ति’यों का वास होता है जो आपको मान’सिक, शारीरिक व पैसे से जुड़ी परेशा’नियां दे सकते हैं ये घर में नेगेटिविटी का माहौल बना देते हैं।

दूध वाले पौधे

बहुत से पौधे आपने ऐसे देखें होंगे जिनके फूलों व तनों से दूध निक’लता है। ऐसे पौधों को घर में लगाने से बचे क्योंकि शा’स्त्रों व मान्य’ताओं के अनुसार इन पौधों पर श्रापित अप्स’राएं वास करती हैं जो अपने साथ नकारा’त्म’कता लेकर आती हैं ऐसे में ये पौधे घर में लगाने से घर की शां’ति भंग हो जाती हैं पति-पत्नी की आपस में नहीं बनती बच्चे का पढ़ाई में मन नहीं लगता। दूसरा कारण कुछ दूध वाले पौधे जहरीले होते हैं जो आपकी सेहत के लिए हानि’कारक हो सकते हैं। घर में छोटे बच्चे हैं तो उनके लिए भी यह काफी नुक’सान देह साबित हो सकता है।

बेर का पौधा

अगर आपके घर के बाहर बेर का पौधा है तो इसे तुरंत हट’वा लें क्योंकि वा’स्तु’शा’स्त्र के अनुसार, इस पौधे पर सबसे ज्यादा नाका’रत्म’कता शक्ति’यां वास करती हैं। ऐसे पौधा पैसे की कि’ल्लत , काम में विघ्न, सेहत की परे’शानी अपने साथ लेकर आता है।

बबूल का वृक्ष

बबूल का पौधा भी कांटे’दार हैं भले ही इस पौधे के बहुत सारे आयुर्वे’दिक गुण होते हैं लेकिन इसका वास घर में नहीं होना चाहिए। दूसरा इसके कांटे बहुत बड़े होते हैं यह वृक्ष जल्दी फैल जाता है जो घर ना होकर बाहर खुले जगल में ही होना चाहिए। मां लक्ष्मी को सुगं’धित फूलों वाले पौधे प्रिय हैं। कांटे’दार पौधों वाले घर में मां ल’क्ष्मी वास नहीं करती।

इमली का पौधा

घर के सामने या घर में इमली का पौधा नहीं लगा होना चाहिए। माना जाता है कि यह भी घर की तर’क्की रोकने व परिवा’रिक सद’स्यों की बीमा’रियों की वजह बनते हैं।

बौन’जाई पौधे

घर में लोग साज सजा’वट के लिए बौनजाई पौधे रखते हैं लेकिन इन्हें घर में रखना मतलब घर में नका’रात्म’कता का वास करवाना है क्योंकि इससे घर के किसी भी सदस्य की तर’क्की नहीं होती। जैसे इस पौधों को बढ़ने से पहले ही काट कर बोना कर दिया जाता है वैसे ही यह घर के लोगों की तर’क्की भी रोक देता है।

बांस का पेड़

बांस का प्लांट घर में लगाना भले ही शुभ माना जाता है लेकिन यह पेड़ आपके घर के सामने नहीं होना चाहिए। घर में इसे उत्तर दिशा में लगाना शुभ माना जाता है।

खजूर का पौधा

खजूर खाने में भले ही मीठी स्वा’दिष्ट होती हैं लेकिन इसका पेड़ जिनके घरों में होता हैं वह परेशा’नियों से घिरे रहते हैं। उस घर में पैसा नहीं टिकता और फिजूल’खर्ची बढ़ी रहती है।

कोई भी कांटेदार पौधा

धा’र्मिक दृष्टि से देखा जाए तो घर में कांटेदार पौधा लड़ाई झ’गड़ा और विवाद लेकर आता है। सद’स्यों में अनबन रहती है। अगर आप कांटेदार पौधे लगाते भी हैं तो इन्हें घर के अंदर नहीं बाहर रखें क्यों’कि इसका संबंध माता अल’क्ष्मी से है।