Categories
health

बि’ना थ’के बि’ना रु’के क’रें से’क्स: आ’या न’या राम’बाण उ’पाय, जा’निए…

खबर

वै’ज्ञानिकों ने गर्भ’निरोधक के क्षे’त्र में ए’क ब’ड़ा क’दम उ’ठाते हु’ए पु’रुषों के लि’ए ए’क न’ई गर्भनि’रोधक गो’ली विक’सित की है जो पू’री त’रह से सुर’क्षित हो’ने के सा’थ ही बेह’द का’रगर भी है. अ’ब पु’रुष भी ह’र दि’न ए’क गो’ली खा’कर ग’र्भ नि’रोध में सफ’ल हो सक’ते हैं. य’ह गो’ली भी महिला’ओं द्वा’रा इस्तेमा’ल की जा’ने वा’ली गर्भनिरो’धक गो’ली की ही त’रह है. दरअ’सल आ’पने अ’ब त’क ब’र्थ कंट्रो’ल के लि’ए महि’लाओं को गर्भ’निरोधक गो’लियां खा’ते दे’खा हो’गा. ले’किन अ’ब महि’लाओं के सा’थ पु’रुष भी गोलि’यां लेक’र ब’र्थ कंट्रो’ल क’र सकें’गे. द इको’नॉमिक्स टा’इम्स की ख’बर के अनु’सार वैज्ञा’निकों का दा’वा है कि उन्हों’ने पु’रुषों के लि’ए ब’र्थ कंट्रो’ल गो’लियां विक’सित की हैं, जो पू’री तर’ह से सुर’क्षित हैं.

लॉ’स एंजे’लिस बायोमे’डिकल रि’सर्च इंस्टी’ट्यूट औ’र यूनिव’र्सिटी ऑ’फ वाशिं’गटन के शोध’कर्ताओं ने दा’वा कि’या है कि ये ब’र्थ कंट्रो’ल गो’लियां पुरु’षों में स्प’र्म को बन’ने से रो’केंगी. सा’थ ही ब’ताया कि ये पू’री तर’ह से सु’रक्षित भी हैं. इ’न ब’र्थ कं’ट्रोल गो’लियों को ले’ने से पुरु’षों को कि’सी भी तर’ह की को’ई सम’स्या न’हीं हो’गी. आ’पको ब’ता दें कि ब’र्थ कं’ट्रोल के लि’ए पु’रुष अ’भी त’क सि’र्फ कंडो’म की ही मद’द ले’ते थे. जब’कि महि’लाओं के लि’ए कॉन्ट्रा’सेप्शन के क’ई ऑप्श’न मौ’जूद हैं. महि’लाओं द्वा’रा खा’ई जा’ने वा’ली ब’र्थ कंट्रो’ल कॉन्ट्रासे’प्टिव महिला’ओं की सेह’त प’र बु’रा अ’सर डा’लती हैं. दरअ’सल, इन’से महि’लाओं में हॉ’र्मोंस का सं’तुलन बि’गड़ जा’ता है.