Categories
News

किसानों के साथ बैठक में मोदी सरकार ने किया ऐसा बडा ऐलान, कहा…….

खबरें

कृषि क़ानून पर जारी गतिरोध को दूर करने के लिए आज किसानों और सरकार के बीच सातवें दौर की बातचीत हुई. अब तक बेनतीजा ख़म होने वाली 6 दौर की बैठकों की तरह आज की बैठक भी बेनतीजा ख़त्म हु लेकिन

कृषि क़ानून पर जारी गतिरोध को दूर करने के लिए आज किसानों और सरकार के बीच सातवें दौर की बातचीत हुई. अब तक बेनतीजा ख़म होने वाली 6 दौर की बैठकों की तरह आज की बैठक भी बेनतीजा ख़त्म हु लेकिन आज की बैठक से किसान खुश दिखें क्योंकि सरकार ने उनकी कुछ मांगो को मान लिया है. अब आठवें दौर की बातचीत नए साल में 4 जनवरी को होगी. सरकार ने भी आज की बातचीत के बाद उम्मीद जताई कि अब जल्द ही गतिरोध दूर होगा.

बैठक के बाद कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने प्रेस को संबोधित करते हुए कहा कि गतिरोध 50 प्रतिशत दूर हो गया है. आज की बातचीत 50 प्रतिशत सफल रही. उम्मीद है कि 4 जानवरी की बातचीत में समस्या का समाधान हो जाएगा. अब सवाल है कि सरकार ने किसानों की कौन-कौन सी मांगें मान ली है. कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि किसानों ने चार प्रस्ताव रखे थे, जिसमें दो पर सहमति बन गई है. पर्यावरण संबंधी अध्यादेश पर रजामंदी हो गई है. बिजली बिल पर सब्सिडी को लेकर भी सहमति बन गई है. एमएसपी पर कानून को लेकर चर्चा जारी है. कृषि मंत्री ने ये भी कहा कि सरकार एमएसपी पर लिखित आश्वसन देने के लिए तैयार हैं. एमएसपी जारी रहेगी.

आज की बातचीत से किसान नेता भी खुश दिखे. किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि सरकार ने हमारी दो मांगों को मान लिया है. आज की बातचीत अच्छी रही. अब चार जनवरी को अगली वार्ता होगी, तब तक शांतिपूर्ण ढंग से किसानों का प्रदर्शन जारी रहेगा. 

बैठक से किसान खुश दिखें क्योंकि सरकार ने उनकी कुछ मांगो को मान लिया है. अब आठवें दौर की बातचीत नए साल में 4 जनवरी को होगी. सरकार ने भी आज की बातचीत के बाद उम्मीद जताई कि अब जल्द ही गतिरोध दूर होगा.

बैठक के बाद कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने प्रेस को संबोधित करते हुए कहा कि गतिरोध 50 प्रतिशत दूर हो गया है. आज की बातचीत 50 प्रतिशत सफल रही. उम्मीद है कि 4 जानवरी की बातचीत में समस्या का समाधान हो जाएगा. अब सवाल है कि सरकार ने किसानों की कौन-कौन सी मांगें मान ली है. कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि किसानों ने चार प्रस्ताव रखे थे, जिसमें दो पर सहमति बन गई है. पर्यावरण संबंधी अध्यादेश पर रजामंदी हो गई है. बिजली बिल पर सब्सिडी को लेकर भी सहमति बन गई है. एमएसपी पर कानून को लेकर चर्चा जारी है. कृषि मंत्री ने ये भी कहा कि सरकार एमएसपी पर लिखित आश्वसन देने के लिए तैयार हैं. एमएसपी जारी रहेगी.

आज की बातचीत से किसान नेता भी खुश दिखे. किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि सरकार ने हमारी दो मांगों को मान लिया है. आज की बातचीत अच्छी रही. अब चार जनवरी को अगली वार्ता होगी, तब तक शांतिपूर्ण ढंग से किसानों का प्रदर्शन जारी रहेगा.