Categories
News

ये 8 क्वा’लिटी वा’लें पुरु’ष आ’सानी से जी’त ले’ते है महि’लाओं का दि’ल, जा’निए क्या आ’प में भी है ये…

हिंदी खबर

महि’लाओं औ’र पु’रुष आ’खिर ए’क-दूस’रे की तर’फ क्यों आ’कर्षित हो’ते हैं, इ’स ची’ज को अ’ब त’क वैज्ञा’निक भी पू’री तर’ह न’हीं सम’झ स’के हैं. हालां’कि रि’सर्च, स्ट’डी औ’र क’ई प्रयो’गों के ज’रिए का’फी ह’द त’क इ’से सम’झने में मद’द मि’ली है. ये सा’री स्ट’डी औ’र रि’सर्च बता’ते हैं कि आ’खिर पुरु’षों की कौ’न सी बा’तें महिला’ओं को आक’र्षित कर’ती हैं.

फ्ल’र्ट क’रने वा’ले पु’रुष- अमेरि’का के रटग’र्स यूनि’वर्सिटी में प्रो’फेसर औ’र प्र’सिद्ध लेखि’का हे’लेन फि’शर का कह’ना है कि ज्यादा’तर महिला’एं अ’पनी तारी’फ क’रने वाले पु’रुष के प्र’ति दि’लचस्पी दि’खाती हैं. साइ’कोलॉजी टु’डे पत्रि’का को दि’ए इं’टरव्यू में हे’लेन ने क’हा कि अप’नी ता’रीफ सु’नने प’र महि’लाएं मुस्कुरा’ती हैं, शरमा’ती हैं औ’र उ’स पु’रुष की बा’तों प’र ज्या’दा गौ’र क’रती हैं. ज्या’दातर महि’लाओं को पुरु’षों का फ्ल’र्ट क’रना अ’च्छा लग’ता है.

खु’द से मे’ल खा’ने वा’ले पुरु’ष- महि’लाएं या पु’रुष उ’नके प्र’ति ज’ल्दी आ’कर्षित हो’ते हैं जो उ’नके व्य’क्तित्व से मे’ल खा’ते हों. कै’लिफोर्निया विश्ववि’द्यालय के शोध’कर्ताओं ने ए’क ऑन’लाइन डे’टिंग सा’इट प’र 60 पुरु’षों औ’र 60 म’हिलाओं प’र स्ट’डी की. स्ट’डी में शा’मिल इ’न लो’गों ने उ’न पु’रुषों औ’र महि’लाओं के प्र’ति दि’लचस्पी दि’खाई जो उ’न्हीं की त’रह दि’खने में आ’कर्षित थे. एक्सप’र्ट्स का क’हना है कि खु’द से ज्या’दा अ’च्छा दि’खने प’र लो’गों में इ’स बा’त का ड’र हो जा’ता है कि पा’र्टनर का क’हीं औ’र अ’फेयर हो सक’ता है ज’बकि क’म आ’कर्षित दिख’ने पर ये ख्या’ल आ’ने लग’ता है कि मु’झे इस’से अ’च्छा पा’र्टनर भी मि’ल सक’ता था.

उ’म्र में ब’ड़े पु’रुष की तर’फ- 2010 में की ग’ई ए’क स्ट’डी में प’ता च’ला कि महि’लाएं अक्स’र उ’म्र में खु’द से ब’ड़े पु’रुषों की तर’फ ज’ल्दी आक’र्षित हो जा’ती हैं. ये बा’त खास’तौर से खु’द क’माने वा’ली महि’लाओं प’र ज्या’दा ला’गू हो’ती है. UK की डं’डी यूनिव’र्सिटी में प्रो’फसर औ’र ले’खिका फह्या’ना मू’र का क’हना है कि आ’र्थिक रू’प से स्वतं’त्र महि’लाएं आत्मवि’श्वास के सा’थ पा’र्टनर का चुना’व क’रती हैं औ’र प्रभा’वशाली औ’र उ’म्र से ब’ड़े पु’रुषों को ज्या’दा प’संद क’रती हैं.

ह’ल्की दा’ढ़ी वा’ले पु’रुष- न्यू सा’उथ वे’ल्स विश्ववि’द्यालय में 177 पु’रुषों औ’र 351 महि’लाओं प’र की ग’ई स्ट’डी में ज्या’दातर महि’लाओं ने दा’ढ़ी की लं’बाई के अनु’सार पु’रुषों में दि’लचस्पी दि’खाई. महि’लाएं उ’न पु’रुषों के प्र’ति ज्या’दा आ’कर्षित दि’खीं जिन’की दा’ढ़ी ह’ल्की ब’ढ़ी हु’ई थी. ह’ल्की ब’ढ़ी दा’ढ़ी में पु’रुष परि’पक्व दि’खते हैं, जो महि’लाओं को ज्या’दा प’संद आ’ता है.

सा’मान्य बॉ’डी वा’ले पु’रुष- 286 महि’लाओं प’र कैलिफो’र्निया यूनिव’र्सिटी की स्ट’डी से प’ता चल’ता है कि महि’लाओं को सा’मान्य बॉ’डी रख’ने वा’ले पु’रुष ज्या’दा प’संद आ’ते हैं. इ’न महि’लाओं को कु’छ शर्टले’स पु’रुषों की तस्वी’रें दि’खाई ग’ईं. इ’न महि’लाओं ने ज्या’दा म’सल्स वा’ले पु’रुषों को शॉ’र्ट ट’र्म पार्ट’नर ज’बकि क’म औ’र सा’मान्य म’सल्स वा’ले पु’रुषों को लॉ’न्ग ट’र्म पार्ट’नर के रू’प में चु’ना.

ला’ल क’पड़े प’हनने वा’ले- ची’न, इंग्लैं’ड, जर्म’नी औ’र अमे’रिका के लो’गों प’र की 2010 की ए’क स्ट’डी के अनु’सार महि’लाए ला’ल रं’ग के क’पड़े पह’नने वा’ले पुरु’षों के प्र’ति स’बसे ज्या’दा आक’र्षित हो’ती हैं. शो’ध के लि’ए महिला’ओं को ला’ल रं’ग के कप’ड़ों औ’र अ’न्य दू’सरे रं’ग के क’पड़ों वा’ले पु’रुषों की कु’छ तस्वी’रें दि’खाई ग’ईं. महि’लाओं ने ला’ल रं’ग के श’र्ट या टी-श’र्ट पह’ने पुरू’षों को ज्या’दा आक’र्षक बता’या.

हंसा’ने वा’ले पुरु’ष- क’ई स्ट’डीज से ये प’ता च’लता है कि महि’लाएं उ’न पु’रुषों की ओ’र अ’धिक आक’र्षित हो’ती हैं जो उ’न्हें हं’साते हैं. अ’च्छे सें’स ऑ’फ ह्यू’मर वा’ले पुरु’षों के सा’थ महि’लाएं ज’ल्दी घुल’मिल जा’ती हैं औ’र उ’नके सा’थ खुल’कर बा’त कर’ती हैं.

सुगं’धित डिओ’डरेंट ल’गाने वा’ले- महि’लाएं न’ई औ’र सुगं’धित डिओड’रेंट ल’गाने वा’ले पु’रुषों की तर’फ भी बहु’त आक’र्षित हो’ती हैं. इंटरने’शनल ज’र्नल ऑ’फ कॉस्मेटि’क साइं’स में प्रका’शित ए’क स्ट’डी के अनु’सार शो’ध के लि’ए कु’छ पुरु’षों को सुगं’धित डिओ’डरेंट जब’कि कु’छ लो’गों को बि’ना सुगं’ध वा’ला स्प्रे ल’गाने को दि’या ग’या. स्ट’डी के नती’जे में प’ता च’ला कि महिला’ओं ने सुगं’धित स्प्रे का उप’योग क’रने वा’ले पुरु’षों को आत्म’विश्वास से भ’रा औ’र ज्या’दा आक’र्षित बता’या.