Categories
Other

LOC से आई बड़ी खबर, सेना के एक वार से बौखला’या आ’तंकी संगठन, कर दिया…

खबरें

 जम्मू-क’श्मीर में अवंतीपोरा में देश को बड़ी का’मयाबी मिली है। यहां अवंतीपोरा पु’लि’स ने भारतीय सेना और सीआ’पी’एफ(CR’PF) के साथ मिलकर ज’म्मू-क’श्मीर के अनं’तनाग के त्रा’ल इ’लाके और संगम क्षेत्र में ग्रे’नेड से हम’ला करने की घट’नाओं में शामिल जै’श-ए-मो’हम्मद के आतं’की सं’गठनों के नेट’वर्क का भं’डाफोड़ किया है। बता दें, गि’रफ्तार किये गए आ’तंकि’यों के मददगार पा’किस्तानी हैंड’लर के संपर्क में थे। जोकि देश द’हलाने की बड़ी सा’जिश रच रहे थे।

आ’तंकियों के छह मददगार गि’रफ्तार
ऐसे में ये संगठन अभी हाल के दिनों में भा’रतीय सुर’क्षाब’लों पर ग्रे’नेड ह’मले करने की सा’जिश में भी शामिल थे। जिसके बारे में जम्मू-कश्मीर पु’लिस ने कहा कि इस ऑप’रेशन को अवंतीपोरा पु’लिस , सेना की 42-आरआर और सी’आर’पीए’फ की 180वीं ब’टालियन ने अं’जाम दिया। इसमें आतं’कियों के छह मददगार गि’रफ्तार किए गए हैं। साथ ही आगे पुलिस का कहना है कि गि’रफ्तार किए गए आतं’कियों के मददगार त्राल क्षेत्र में चुनाव ब’हिष्कार के पोस्टर चिपकाने में भी शामिल रहे हैं। इनके कब्जे से वि’स्फोटक पदार्थ सहित अन्य आ’पत्तिजन’क सामग्री बरा’मद की गई है। मा’मला दर्ज कर लिया गया है, पूछताछ की जा रही है। इससे पहले बीते दिन आ’तंकियों के गण को लेकर बड़ी जानकारी सामने आई थी। यहां न’कियाल में पा’किस्तान के आ’तंकियों का पूरा का पूरा गण का पता चला। आतं’कियों के लगभग 7 बड़े ट्रे’निंग कैंप चलते थे। इन कैंपों में ल’श्कर-ए-तै’यबा के आतं’कि’यों को ट्रे’निंग दी जाती थी।

दूसरा बड़ा गढ़ कोटली
आ’तंकियों का दूसरा बड़ा गढ़ कोटली है जो कि यहां से 50 किलोमीटर दूर है। इसके बोर्ड पर लिखा है कि रावलपिंडी 178 किलोमीटर की दूरी पर है और इ’स्लामा’बा’द वेल विदइन रेंज, यानी भार’तीय से’ना की एकदम पहुंच में है। यहां इस पोस्ट पर पा’किस्ता”न की तरफ से ता’बड़तो’ड़ गो’लाबारी होती रहती है। जिसके चलते दो दिन पहले ही पा’कि’स्ता’न ने सी’ज फा’यर का उ’ल्लंघन किया और अधिक कै’लिबर के ह’थिया’रों का उपयोग किया। वहीं पहले जहां छोटे ह’थियारों का इस्तेमाल होता था, वहीं अब पा’किस्ता’न हर तरह के हथि’यारों का उपयोग कर रहा है। ये पा’किस्ता’न की नापा’क हर’कतों के सबू’त भी मिले। जिसके चलते सेना को बड़ी का’मयाबी मिली है।