Categories
News

भार’त में शु’रू हो’ने वा’ला है को’रोना का टी’काकरण, हो जा’एं तै’यार जा’नें पू’री ख’बर, व’रना….

हिंदी खबर

न’ई दि’ल्ली। कें’द्र सर’कार ने मंगल’वार को क’हा कि को’विड-19 टीका’करण के बा’द प्रति’कूल प्रभा’व की आशं’का से इं’कार न’हीं कि’या जा सक’ता है त’था रा’ज्यों ए’वं केंद्रशा’सित प्रदे’शों को इस’के लि’ए तै’यार र’हना चा’हिए। स्वा’स्थ्य मंत्रा’लय में सचि’व रा’जेश भू’षण ने क’हा कि टीका’करण के बा’द प्रति’कूल प्र’भाव (एईए’फआई) म’हत्वपूर्ण पह’लू हैं औ’र रा’ज्यों से क’हा ग’या है कि वे ह’र ब्लॉ’क में क’म से क’म ए’क ए’ईए’फआ’ई प्रबंध’न कें’द्र की पह’चान क’रें।

उन्हों’ने क’हा कि सा’र्व’भौमि’क टीका’करण का’र्यक्रम, जो दश’कों से च’ल र’हे हैं, में ब’च्चों औ’र गर्भ’वती महि’लाओं में कु’छ प्रति’कूल प्र’भाव दे’खे जा’ते हैं। भू’षण ने क’हा कि इ’सलिए, ह’म को’विड-19 टीका’करण की शुरू’आत हो’ने प’र प्रति’कूल प्र’भाव की आ’शंका से इन’कार न’हीं क’र सक’ते हैं।

उ’न दे’शों में ज’हां टीका’करण पह’ले ही शु’रू हो चु’का है, खा’सकर ब्रि’टेन में, पह’ले दि’न ही प्रति’कूल प्रभा’व सा’मने आ’या। इसलि’ए, आ’वश्यक है कि रा’ज्य औ’र केंद्रशा’सित प्र’देश इस’के लि’ए भी तैया’र र’हें। उन्हों’ने क’हा कि इ’स संब’ध में कें’द्र ने रा’ज्यों को विस्तृ’त नि’र्देश जा’री कि’ए हैं।

न बर’तें को’ताही, क’भी भी बि’गड़ स’कते हैं हा’लात : के’न्द्र सर’कार ने मंग’लवार को क’हा कि दे’श में को’विड-19 के मा’मलों औ’र संक्र’मण से हो’ने वा’ली मौ’तों में क’मी आ’ई है जो अ’च्छी खब’र है। सा’थ उ’सने कि’सी भी प्र’कार की ढि’लाई के खिला’फ आगा’ह कि’या। सर’कार ने चे’ताया कि दे’श की आबा’दी का ए’क ब’ड़ा हि’स्सा अ’भी भी संक्र’मण के प्र’ति ‘अतिसं’वेदनशील’ है औ’र हा’लात क’भी भी बिग’ड़ सक’ते हैं। उन्हों’ने क’हा कि ह’में खु’श हो’ना चा’हिए, ले’किन स’तर्कता के सा’थ प्र’सन्न हो’ना चा’हिए।

नी’ति आयो’ग के स’दस्य (स्वा’स्थ्य) डॉक्ट’र वी’के पॉ’ल ने संवा’ददाता सम्मेल’न में क’हा कि ऐ’से में जब’कि पू’री दुनि’या में, खास’तौर से अमे’रिका औ’र यूरो’प में, कोवि’ड-19 के मा’मले औ’र संक्र’मण से हो’ने वा’ली मौ’तें ब’ढ़ र’ही हैं, दु’निया में स्थि’ति चिंता’जनक हो ग’ई है। भार’त में इस’के वि’परीत हा’लात संतोष’जनक हैं, संक्र’मण के न’ए माम’लों औ’र उस’से हो’ने वा’ली मौ’तों की सं’ख्या में क’मी आ र’ही है।

कि’सी भी तर’ह की ढिला’ई के प्र’ति आगा’ह क’रते हु’ए पॉ’ल ने क’हा कि मृ’त्यु द’र घ’ट र’ही है औ’र य’ह 400 प्र’तिदिन से क’म र’ह ग’ई है। न’ए माम’ले भी घट’कर दि’न में 22,000 र’ह ग’ए हैं। ऐ’सी सं’ख्या ह’मने जु’लाई में दे’खी थी। इसलि’ए य’ह बेह’तर स्थि’ति है। दे’श के रू’प में ह’म बे’हतर क’र र’हे हैं।

दि’ल्ली में महा’मारी नियं’त्रण में : दि’ल्ली में हा’लात में सु’धार हो’ने की ओ’र ध्या’न दि’लाते हु’ए उन्हों’ने क’हा कि ह’म दि’ल्ली सर’कार औ’र अ’न्य सर’कारों को भी बधा’ई दे’ते हैं जि’न्होंने हा’ल ही में महा’मारी को नियं’त्रित क’रने में मह’त्वपूर्ण योग’दान दि’या है। पॉ’ल ने हालां’कि उत्तरा’खंड, नगा’लैंड औ’र हिमा’चल प्र’देश जै’से रा’ज्यों में को’विड-19 की स्थि’ति प’र चिं’ता जता’ई औ’र क’हा कि स्था’नीय सरका’रों की मद’द से महा’मारी को नियं’त्रित क’रने के स’भी प्रया’स कि’ए जा र’हे हैं।

केन्द्री’य स्वा’स्थ्य स’चिव रा’जेश भूष’ण ने क’हा कि दे’श में को’विड-19 का प’ता ल’गाने के लि’ए अ’भी त’क 15.55 क’रोड़ से ज्या’दा नमू’नों की जां’च की ग’ई है। दे’श में लो’गों के संक्र’मित हो’ने की औ’सत द’र घट’कर 6.37 र’ह ग’ई है, व’हीं पि’छले सप्ता’ह य’ह घट’कर मा’त्र 3 प्रतिश’त र’ह ग’ई। भू’षण ने क’हा, भार’त में संक्र’मण से हो’ने वा’ली मौ’तों की द’र भी दुनि’या में सब’से क’म है। वर्त’मान में भा’रत में मृ’त्यु द’र 1.45 प्रति’शत है जब’कि इस’की वैश्वि’क द’र 2.26 है।