Categories
News

अगले 24 घंटे में गिर सकती है खट्टर सरकार, हरियाणा में राजनैतिक तूफ़ान के संकेत…

खबरें

हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि उम्मीद है कि अगले 24 से 40 घंटे में केंद्र और किसान संगठनों के बीच अगले दौर की बातचीत होगी. उन्होंने कहा कि केंद्र गतिरोध खत्म करने के लिए ‘सकारात्मक’ है.

दुष्‍यंत चौटाला ने दी ध’मकी, …इ’स्‍तीफा दे दूंगा
हमारी पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष ने पहले ही साफ कर दिया था कि किसानों को एमएसपी मिलना ही चाहिए। केंद्र सरकार ने कल जो लिखित प्रस्‍ताव दिए, उनमें भी एमएसपी शामिल है। मैं जबतक डेप्‍युटी सीएम हूं तब तक किसानों को एमएसपी दिलाने के लिए काम करूंगा। अगर नहीं दिला पाया तो इस्‍तीफा दे दूंगा।
दुष्‍यंत चौटाला, जेजेपी नेता

किसान आंदोलन के बीच हरियाणा में बढ़ी राज’नीति’क ह’लचल
किसा’न आं’दोलन को लेकर हरियाणा में राजनीतिक उलटफेर की स्थिति बनती नजर आ रही है। बीजेपी की स’हयोगी दुष्यं’त चौ’टाला की जननायक जनता पार्टी (JJP) में भी कृषि कानूनों को लेकर हरि’याणा में सरकार से अलग होने की मांग तेज होने लगी है। मी:डिया रिपोर्ट्स के मुता’बिक डे’प्युटी सीए’म दु’ष्यंत चौ’टाला ने हाल ही में इस मुद्दे पर विधा’यकों के साथ बैठक की।

स’त्ता बना’ने-बिगा’ड़ने की स्थिति में दुष्यंत चौटाला
दुष्यंत चौटाला पर दबा’व बढ़ता जा रहा है। बै’ठक में पार्टी विधायकों से किसान आं’दोलन का उनके क्षेत्र में असर, राज्यों को लोगों के रुख आदि के बारे में फी’डबै’क लिया गया। खास बात है कि दुष्यंत की पार्टी के पास केवल 10 विधायक ही हैं। लेकिन फिर भी हरियाणा की सत्ता को बनाने-बिगाड़ने की स्थिति में हैं।

नई दिल्ली: कृषि कानूनों के खि’लाफ कि’सानों का प्रदर्शन लगातार 18वें दिन भी जारी है और वे कानूनों को ख’त्म करने की मांग पर अड़े हैं. इस बीच हरियाणा के उ’पमुख्य’मंत्री दुष्यंत चौटाला ने उम्मीद जताई है कि किसानों का मस’ला जल्द सुलझ जाएगा. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अगले 24 से 40 घंटे में केंद्र और किसान संगठनों के बीच अगले दौर की बातचीत हो सकती है.

दुष्यंत चौटाला ने की केंद्रीय मंत्रियों से मुलाकात

जननायक जनता पार्टी के नेता दुष्यंत चौटाला ने किसानों के प्रदर्शन के बीच शनिवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल और केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर से मुलाकात की थी. इस दौरान उन्होंने केंद्र से किसान आं’दोलन ख’त्म कराने की दिशा में उचित कदम उठाने की मांग की थी.