Categories
News

बे’टे के लाप’ता हो’ने प’र था’ने प’हुंचे पि’ता: घ’र आ’कर दे’खा तो बे’टा छ’त प’र मां के सा’थ क’र र’हा था ये.. दे’ख क’र पि’ता के उ’ड़े हो’श, दे’खें….

हिंदी खबर

पश्चि’म बं’गाल के सा’ल्ट ले’क शह’र में ए’क 25 सा’ल के यु’वक के ला’पता हो’ने के बा’द उस’का कंका’ल उ’सी के घ’र की छ’त प’र मि’लने से पू’रे इला’के में सन’सनी फै’ल ग’ई. युव’क क’थित तौ’र प’र गुरुवा’र को लाप’ता हो ग’या था. पुलि’स अधि’कारी के अनु’सार जो कंका’ल पा’या ग’या उस’को लेक’र श’क है कि वो युव’क का ही है.

अनि’ल कु’मार महेन’सरिया ना’म के श’ख्स ने शिका’यत की थी कि उन’का बे’टा कु’छ दि’न से गाय’ब है. इ’सके बा’द ज’ब शि’कायत प’र कार्र’वाई क’रते हु’ए पुलि’स ने माम’ले की जां’च शु’रू की तो उ’सी के घ’र में छ’त प’र ए’क नरकंका’ल ब’रामद हु’आ.

शुरुआ’ती जां’च में साम’ने आ’या है कि महेनस’रिया की प’त्नी गी’ता ने अ’पने सा’ल्ट ले’क वा’ले घ’र को छो’ड़ दि’या था औ’र पि’छले सा’ल अप’ने ती’न ब’च्चों – अ’र्जुन, विदु’र (22) औ’र वैदे’ही (20) के सा’थ पा’स के रा’जारहाट में र’हने च’ली ग’ई थी.

ए’क पुलि’स अधिका’री ने क’हा, ‘इ’स अक्टू’बर में, महेनस’रिया को प’ता च’ला कि उस’की प’त्नी औ’र ती’नों ब’च्चे रां’ची च’ले ग’ए हैं औ’र अप’ने मा’ता-पि’ता के घ’र प’र र’ह र’हे हैं. हालां’कि इ’स दौ’रान उन’की अप’ने ब’ड़े बे’टे अ’र्जुन से को’ई बात’चीत न’हीं हो स’की औ’र उस’की प’त्नी ने आश्वास’न दि’या कि व’ह भी रां’ची में है.’ अ’पने बे’टे का प’ता लगा’ने में अस’मर्थ पि’ता ने गुरुवा’र सुब’ह बिधान’नगर ई’स्ट पुलि’स स्टेश’न में शि’कायत द’र्ज करा’ई, उन्हों’ने अर्जु’न के ‘गा’यब हो’ने’ के पी’छे अप’नी प’त्नी की सं’दिग्ध भूमि’का का आरो’प लगा’या था.

अधि’कारी ने क’हा, ‘महेन’सरिया को श’क था कि उस’की प’त्नी ने कु’छ अ’न्य लो’गों की मद’द से अ’र्जुन का अप’हरण क’र लि’या है या उ’सकी ह’त्या क’र दी है. हम’ने आ’ज शा’म ए’जे ब्लॉ’क के महेन’सरिया के आवा’स की छ’त से कं’काल को ढूं’ढ नि’काला.’ पुलि’स ने क’हा कि कं’काल को मेडि’कल जां’च के लि’ए भे’जा ग’या था, प्रारं’भिक रू’प से य’ह अर्जु’न के विव’रण से मे’ल खा’ता प्रती’त हो’ता है. अधि’कारी ने क’हा, ‘ह’म मा’मले की जां’च क’र र’हे हैं. मेडि’कल परी’क्षण की रि’पोर्ट आ’ने के बा’द सबकु’छ सा’फ हो जा’एगा.’

ए’क पुलि’स अधिका’री ने क’हा, ‘इ’स अक्टू’बर में, महेनस’रिया को प’ता च’ला कि उस’की प’त्नी औ’र ती’नों ब’च्चे रां’ची च’ले ग’ए हैं औ’र अप’ने मा’ता-पि’ता के घ’र प’र र’ह र’हे हैं. हालां’कि इ’स दौ’रान उन’की अप’ने ब’ड़े बे’टे अ’र्जुन से को’ई बात’चीत न’हीं हो स’की औ’र उस’की प’त्नी ने आश्वास’न दि’या कि व’ह भी रां’ची में है.’ अ’पने बे’टे का प’ता लगा’ने में अस’मर्थ पि’ता ने गुरुवा’र सुब’ह बिधान’नगर ई’स्ट पुलि’स स्टेश’न में शि’कायत द’र्ज करा’ई, उन्हों’ने अर्जु’न के ‘गा’यब हो’ने’ के पी’छे अप’नी प’त्नी की सं’दिग्ध भूमि’का का आरो’प लगा’या था.