Categories
News

कानपुरः प्रे’मी को वस में करने के लिए नर’मुंडों से तंत्र साध’ना करती थी महि’ला, पुलिस के सामने किया ये बड़ा खु’लासा…..

डेली न्यूज़

यूपी का कान’पुर में आज’कल तंत्र-मंत्र के कई मामले सा’मने आ रहे हैं. कई महि’लाएं इस अंधवि’श्‍वास में फंस’ती नजर आ रही हैं. कोई महि’ला औ’लाद न होने पर मा’सूम बच्‍ची का कले’जा निकल’वाकर खा जाती है तो म’हिला अपने प्रे’मी को पाने के लिए नर’मुंडों की पूजा करके तं’त्र सा’धना करने ल’गती है. 

कान’पुर पुलिस ने म’हिला गीता देवी को अरे’स्‍ट किया जि‍’सने अपने प्रे’मी अशो’क को पाने के लिए एक नहीं, एक साथ चार-चार नर’मुंडों की कई सालों से तं’त्र सा’धना कर रही थी ले’किन जब इस तं’त्र-मंत्र से कोई हल नहीं मिला तो उसने रवि’वार की रात को चारों नर’मुंडों को अपने घर के बा’हर कू’ड़े में फेंक दिया.

सोम’वार को जब लोगों ने एक सा’थ चार-चार नर’मुंडों को पड़े देखा तो चारों तरफ दह’शत फ़ैल गई. कान’पुर में कुछ दिन पहले ही घाट’मपुर में एक ना’बालिग ब’च्ची की ह’त्‍या करके उस’का क’लेजा निकल’वाकर कर खाने की घट’ना हो चुकी थी. इससे पुलि’स में हड़’कंप मच गया. 

पुलि’स ने जब इलाके में पूछ’ता’छ की तो मोह’ल्ले की गीता देवी की तंत्र सा’धना का खु’लासा हो गया. पुलि’स का कहना है गीता, अपने प्रे’मी का वशी’करण करने के लिए चारों नर’मुंडों से तंत्र सा’धना कर’ती थी. 

गीता पन’की की काशी’राम कॉ’लोनी में रहती है. उसके पति मो’हन की मौ’त हो गई थी. इसके बाद उसने अ’शोक से प्रे’म किया और उसके सा’थ रहने भी लगी ले’किन चार साल पहले अशोक ने दूसरी महि’ला से शा’दी कर ली. तब से गी’ता, अशो’क को पाने के लिए तरह-तरह के उ’पाय कर’ती रही.

इसी वजह से उसकी एक झाड़’फूंक करने वाले के यहां राम मनो’हर से मुला’क़ात हुई तो उसने राम मनो’हर से पांच हजार में चार नर’मुंड खरीद लिए. राम मनो’हर का कहना है कि उसे बा’लू की ख’दान में चारों नर’मुंड मिले थे जिसे मैंने ये सोच’कर उठा लिए थे कि इनको रंग’कर बाजारों में तंत्र-मंत्र का ड्रा’मा दिखा’कर पैसा कमा’ऊंगा.

राम मनो’हर ने बांदा में कुछ जगह ऐसा कार’नामा किया भी ले’किन ज्यादा इन’कम नहीं हुई थी तो उसने नर’मुंडों को गीता को बेच दिया. वैसे गीता अपने घर में नर’मुंडों की पूजा इतनी गोप’नीयता से करती थी कि उसके पड़ो’सी तक कभी उसे तंत्र-मंत्र करते नहीं देख पाए. अब तो पूरे मोह’ल्ले में उसकी हकी’कत सुन’कर लोगों में दह’शत सी मची है.