Categories
जुर्म

पक’ड़ा गया से’क्स रै’केट का कुख्या’त सर’गना! बां’ग्ला’देश और रूस से लड़’कियों……

डेली न्यूज़

बांग्ला’देश और रूस से इंदौर लाई गई युव’तियों को न’शे के लिए एम’डी ड्र’ग्स उप’लब्ध करवाने वाले सै’क्स रैके’ट के कु’ख्यात सर’गना सागर जैन को विजय नगर पु’लिस ने दि’ल्ली से गिर’फ्तार किया है. इं’दौर में सबसे बड़ा से’क्स स्कैं’डल संचालित करता था और इसी में वह कु’ख्यात भी है. उसे एक ह’जार नंबर ट्रेस करने के बाद प’कड़ा गया है. 

जब बांग्ला’देशी लड़’कियों को रिहा कर’वाया तो बद’माश का नाम सा’मने आया. पुलिस उसे पक’ड़ती इसके पहले वह भाग गया था. दि’वाली के पहले उसने अपनी लोके’शन बदली औऱ दिल्ली में एक गर्ल’फ्रेंड के यहां रह’ने पहुंच गया था. वहीं से पु’लिस ने तक’नीक का उप’योग कर उसे पकड़ा है.

उधर, पुलिस ने बांग्ला’देशी लड़’कियों के अप’हरण औऱ रैके’ट संचा:लित करने वाली गैंग के फरार आ’रोपी को भी गाजि’याबाद से पक’ड़ा है. एक महीने से इं’दौर में बड़ा रैकेट संचा’लित करने वाले जैन को तला’श रही थी. आ’रोपी की बांग्ला’देशी लड़कियों के अप’हरण और मा’नव तस्क’री के मामले में तलाश थी. 

करीब एक महीने पहले विजय नगर थाना प्रभारी तह’जीब का’जी की टीम ने जैसे ही महा’लक्ष्मी नगर में सागर के घर दबिश दी थी तब बद’माश सैं’डो का नाम सामने आया था. पु’लिस की धरप’कड़ के पहले ही वह भाग नि’कला था. पु’लिस ने उसकी त’लाश में तीन-चार बार अलग-अलग जग’हों पर टीम भेजी, लेकिन वह नहीं मिला था.

दिवा’ली के बाद थाना प्र’भारी काजी को एक लिंक मिला थी कि वे जिन तीन आरो’पियों को खोज रहे हैं वे दिल्ली के आस’पास हो सकते हैं. पुलिस ने फिर नई तक’नीकों और सूत्रों पर काम करना शुरू कर दिया, क्यों’कि आरो’पियों ने अपने मोबा’इल बंद कर लिए थे. इस’लिए उनका सं’पर्क नहीं मिल रहा है आ’खिर पुलिस को एक लिं’क मिला जिसमें आऱो’पी सैंडो की लो’केशन ट्रेस हुई. पता चला कि वह दिल्ली में अ’पनी गर्ल’फ्रेंड के घर छि’पा हुआ है, वह घर से बाहर निक’लता ही नहीं है.

उसकी गर्ल’फ्रेंड ही उसे रो’जाना बाहर की जानका’रियां देती है, बाजार भी गर्ल’फ्रेंड ही जाती थी. आ’रोपी सैं’डो तो अपना मोबा’इल छिपा चुका था औऱ एक नए नंबर से कभी कभार सिर्फ वाट्’सएप कॉलिं’ग करता था. पुलिस ने नई तक’नीकों को आधार बनाया औऱ आ’ऱोपी के फ्लैट के सा’मने दस्तक दे दी. अचा’नक टीम उस फ्लैट पर प’हुंची जहां सैंडो ठहरा था. वहां दबि’श देकर सैं’डो को हिरा’सत में लिया और सीधे इं’दौर ले आए. हा’लांकि उसकी गर्ल’फ्रेंड का कोई दोष सा’मने नहीं आया, इस’लिए अभी उसे वहीं छोड़ दिया. यदि जरू’रत पड़ी तो उसे भी पूछ’ताछ के लिए लाया जाएगा. 

आरोपी ने पुलिस के सामने बता’या कि वह बांग्ला’देशी लड़’कियों के स्कैं’डल को चल’वाने के लिए उन्हें नशा स’प्लाई कराता था. वह धीरे-धीरे उन्हें ए’मडी ड्रग्स भेज’ता था ताकि वे लत में रहे और फिर स्कैं’डल से बाहर नहीं आएं. उन्हें आदी बना’ने के लिए यह जह’रीला नशा दिया जाता था. वह मुंब’ई से ही एम’डी ड्र’ग्स लाता था.

शुरू’आत में लड़कि’यों को मु’फ्त में न’शा देते हैं, लेकिन बाद में इनकी की’मत वसूली जाती है. उसके संप’र्क में अभी भी 20 से ज्यादा से’क्स वर्कर हैं. अधि’कांश दिल्ली, हरियाणा, पंजाब और वि’देश की हैं.