Categories
News

अ’ब ए’क का’गज से घ’र प’र क’रें को’रोना टे’स्ट, वैज्ञा’निकों ने खो’ज निका’ला ये न’या तरी’का, जा’नें स’भी कै’से क’रें ये….

हिंदी खबर

वॉशिं’गटन: को’रोना वायर’स की जां’च के लि’ए भार’तीय मू’ल के ए’क वैज्ञा’निक के ने’तृत्व में का’गज आधा’रित टे’स्ट विक’सित कि’या ग’या है। इ’स का’गज आधा’रित ‘इ’लेक्ट्रोकेमिकल सें’सर’ का उप’योग कर’ने वा’ली इ’स जां’च में 5 मिन’ट के अं’दर ही को’रोना वाय’रस की मौ’जूदगी के बा’रे में प’ता च’ल स’कता है। ऐ’से में विशे’षज्ञों के अनु’सार, अ’गर ये टे’स्‍ट पू’री तर’ह से स’फल र’हता है तो इ’ससे क’रोड़ों लो’गों को का’फी फाय’दा हो’गा। सा’थ ही दे’श को ब’ड़ी उप’लब्धि भी हा’सिल हो’गी।

ग्रा’फीन-बे’स्ड इलके’बायोसेंसर’

ऐ’से में अमेरि’का में इलि’नोइस विश्ववि’द्यालय के अनुसं’धानकर्ताओं ने सा’र्स-सीओ’वी-2 की आ’नुवंशिक क’णों की उप’स्थिति का प’ता ल’गाने के लि’ए ए’क ‘इले’क्ट्रिकल री’ड-आउ’ट सेट’अप’ के सा’थ ए’क ‘ग्रा’फीन-बे’स्ड इलकेबा’योसेंसर’ विकसि’त कि’या है।

इस’में पत्रि’का ‘एसी’एस नै’नो’ में प्रका’शित ए’क अनुसं’धान के अनु’सार, इ’स बायो’सेंसर में दो घट’क हैं, ए’क ‘इलेक्टोर’ल री’ड-आ’उट’ को मा’पने औ’र दूस’रा वाय’रल आ’रएनए(RNA) की उ’पस्थिति का प’ता लगा’ने के लि’ए हो’ता है।

ऐ’से में इस’के नि’र्माण के लि’ए, प्रोफे’सर दिपं’जन पा’न के ने’तृत्‍व में अनुसं’धानकर्ताओं ने ए’क प्रवाह’कीय फि’ल्म ब’नाने के लि’ए ‘ग्रेफी’न नै’नोप्लेटलेट्स’ की ए’क पर’त फि’ल्टर पे’पर प’र लगा’ई औ’र फि’र उन्हों’ने इ’लेक्ट्रिकल री’ड-आ’उट के लि’ए ए’क स’म्पर्क पै’ड या’नी कॉ’न्टेक्ट पै’ड के रू’प में ग्रा’फीन के शी’र्ष प’र पूर्वनि’र्धारित डिजा’इन के सा’थ सो’ने का ए’क इले’क्ट्रोड र’खा।

‘सेंसि’टिविटी’ औ’र ‘क’न्डक्टिवटी’

इस’के बा’द सो’ने औ’र ग्रे’फीन दो’नों में अ’धिक ‘सेंसि’टिविटी’ औ’र ‘क’न्डक्टिवटी’ हो’ती है, जो विद्यु’त संके’तों में प’रिवर्तन का प’ता ल’गाने के लि’ए इ’स प्ले’टफ़ॉर्म को अल्ट्रासो’निक बना’ता है।

ऐ’से में अनुसंधान’कर्ताओं की टी’म को इ’ससे उम्मी’द है कि कोवि’ड-19 के अला’वा इ’सका इस्तेमा’ल अ’लग-अल’ग बीमा’रियों का प’ता लगा’ने के लि’ए भी कि’या जा स’कता है। अ’गर परी’क्षण सफ’ल र’हा तो ये ब’ड़ी काम’याबी हो’गी।