Categories
Entertainment

हे’मा मा’लिनी ने अप’नी शा’दीशुदा लाइ’फ को ले’कर कि’या खुला’सा: क’हा ध’र्मेन्द्र 85 सा’ल की उ’म्र में भी यु’वाओं से ज्या’दा क’रते है ये का’म…

हिंदी खबर

मु’म्बई: फि’ल्मों की रुपह’ली दु’निया में ध’र्मेन्द्र ए’क ऐ’सा ना’म है जिस’ने एक्श’न, रोमां’टिक, इ’मोशनल , सो’शल, का’मेडी या’नी की ह’र तर’ह की फि’ल्में क’र अ’पना ए’क अ’लग मुका’म ब’नाया है। उन्हों’ने य’दि ल’व स्टो’री फि’ल्म भी की तो खु’द को क’भी लुट’ते पि’टते प्रे’मी के तौ’र प’र पे’श न’हीं कि’या, ब’ल्कि बेह’द डै’सिंग न’जर आ’ए। य’दि ए’क्शन फि’ल्में की तो उन’के पं’च का अ’सर न के’वल वि’लेन को हु’आ ब’ल्कि द’र्शकों को भी हु’आ है, का’मेडी फि’ल्म की तो पू’रा हा’ल ठहा’कों से गूं’ज ग’या। य’ही व’जह है कि आ’ज पू’री दु’निया में उन’के दीवा’नों की क’मी न’हीं है।

दि’लीप कु’मार की फि’ल्मों के दी’वाने

पं’जाब में पै’दा हु’ए ध’र्मेन्द्र का फि’ल्मी स’फर बे’हद ल’म्बा र’हा है। पंजा’ब के लु’धियाना में ए’क गां’व में पै’दा हु’ए धर्मे’न्द्र ने केव’ल मे’ट्रिक त’क ही शि’क्षा प्रा’प्त की थी। उ’न्हें स्कू’ल के सम’य से ही फि’ल्मों का इ’तना चा’व था कि दि’ल्लगी (1949) फि’ल्म को 40 से भी अ’धिक बा’र दे’खा था। प’ढाई लि’खाई के दौरा’न व’ह अभि’नेता दिली’प कु’मार की फि’ल्मों के दी’वाने हो ग’ए। अ’क्सर क्ला’स में पहुँच’ने के बजा’य सि’नेमा हॉ’ल में प’हुँच जा’या कर’ते थे। प’ढाई पू’री क’रने के बा’द उ’न्हे रे’लवे में क्ल’र्क की नौ’करी मि’ल ग’यी। लग’भग स’वा सौ रुप’ये त’नख्वाह थी, ज’ब य’हाँ म’न न’हीं ल’गा तो फि’ल्मों में का’म क’रने की तला’श में मु’म्बई आ ग’ए।

य’हां प’र घ’र न हो’ने की वज’ह से उ’न्हें गै’राज में सो’ना पड़’ता था। ध’र्मेन्द्र खु’द बता’तें हैं कि उ’स व’क्त मे’रे पा’स रह’ने का भ’ले ही को’ई ठिका’ना न’हीं था, लेकि’न म’न में पै’से क’माने की चा’ह ज’रूर थी। य’हां उन’की मुला’कात नि’र्माता नि’र्देशक अर्जु’न हिंगो’रानी से हु’ई तो उन्हों’ने अप’नी फि’ल्म दि’ल भी ते’रा ह’म भी ते’रे में ध’र्मेन्द्र को ले लि’या। 60 के दश’क में प्रद’र्शित ब्लै’क एं’ड व्हाइ’ट फि’ल्मों में अ’पने अ’भिनय के रं’ग बि’खेरने वा’ले ध’र्मेंद्र को ज’ल्द ही ए’क रोमां’टिक ही’रो के तौ’र प’र पह’चान मि’ल ग’यी। ले’किन 70 के द’शक में उन’की ए’क्शन फि’ल्मों ने दर्श’कों में ज्या’दा रो’मांच पै’दा कि’या।

कॅरि’यर की स’बसे ब’ड़ी हि’ट सा’बित हु’ई फि’ल्म शो’ले

क’ई अभिने’त्रियों के सा’थ का’म क’रने के बा’द उन’की जो’ड़ी अभि’नेत्री हेमामा’लिनी के सा’थ स’बसे अधि’क स’राही ग’यी। 1975 में प्रद’र्शित हु’ई फि’ल्म शो’ले ध’र्मेंद्र के कॅ’रियर की सब’से ब’ड़ी हि’ट सा’बित हु’ई। इ’स फि’ल्म के बा’द ध’र्मेंद्र की गिन’ती वि’श्व के अ’भिनेताओं में हो’ने ल’गी। शो’ले में उन्हों’ने एक्ष’न रोमा’टिंग का’मेडी या’नी की सा’री भूमि’काएं ए’क सा’थ निभा’ई।

क’रोडों की सं’पत्ति के मा’लिक

धर्में’द्र अ’भिनेता ही न’हीं, ब’ल्कि निर्मा’ता भी हैं। व’र्ष 1983 में ध’र्मेंद्र ने अ’पने ब’ड़े बे’टे स’न्नी देओ’ल को फि’ल्म ‘बेता’ब’ औ’र 1995 में छो’टे बे’टे बॉ’बी देओ’ल को ‘बर’सात’ फि’ल्म का नि’र्माण क’र उ’न्हें फि’ल्मों में उ’तारा। व’र्ष 2007 में ‘अ’पने ’ फि’ल्म में स’न्नी, बॉ’बी औ’र ध’र्मेंद्र पह’ली बा’र ए’क सा’थ प’र्दे प’र आ’ए। बॉली’वुड के ही मै’न क’हे जा’ने वा’ले ध’र्मेन्द्र 500 क’रोड़ से ज्या’दा की सं’पत्ति के मा’लिक हैं। जब’कि अ’पनी प’हली से उ’न्हें केव’ल 51 रुप’ए फी’स मि’ली थी।