Categories
News

मंग’लवार को ह’नुमान जी का व्र’त रख’ने से पह’ले ज’रूर जा’न लें ये बा’तें, वर’ना व्र’त रख’ने से आ’पके जी’वन में हो’गा उ’ल्टा….

धार्मिक खबर

वैदिक ग्रंथों में मंगल (Tuesday) का दिन सबसे शुभ और कल्याणकारी माना गया है. कहते हैं कि क’लियुग में हनुमान जी (Hanuman Ji) ही स्थायी भगवान हैं. हनुमानजी की निरंतर भक्ति करने से भूत-पिशाच, श’नि और ग्र’ह बा’धा, रो’ग और शो’क, को’र्ट-कच’हरी-जे’ल बंधन से मु’क्ति, मारण-सम्मोहन-उच्चा’टन, घट’ना-दुर्घट’ना से बचना, मंगल दो’ष, कर्ज से मुक्ति, बेरोजगार और तनाव या चिं’ता से मुक्ति मिल जाती है. कहते हैं कि हनुमान जी की कृपा जिस पर बरसरना शुरू होती है उसका कोई बाल भी बां’का नहीं कर सकता है. मंगलवार के दिन हनुमान जी का व्रत रखने से बिगड़े काम बन जाते हैं और जीवन से क’ष्ट दूर हो जाते हैं. आइए जानते हैं मंगलावर को व्रत रखने के लिए आपको किन बातों का ध्यान रखना चाहिए.

मंगलवार व्रत की पूजा-विधि



-मंगलवार के दिन सूर्योदय से पहले ही उठ जाना चाहिए.
-नि’त्यक्रिया से निपटकर स्नान कर स्वच्छ होना चाहिए.
-इस दिन लाल रंग के वस्त्र धारण करना शुभ माना जाता है. त’त्पश्चात हनुमानजी को लाल फूल, सिन्दूर, वस्त्र चढ़ाने चाहिए.
-श्रद्धापू’र्वक हनुमानजी की प्रतिमा के सामने ज्यो’ति जलाकर हनुमान चालीसा या सुंद’रकांड का पाठ करना चाहिए.
-शाम के समय बेसन के ल’ड्डुओं या फिर खीर का भोग हनुमानजी को लगाकर स्व’यं नम’करहित भोजन करना चाहिए.
-मंगलवार का व्रत करने वालों को इस दिन ब्र’ह्मचर्य का पालन करना चाहिए.
-मा’न्यता है कि मांगलिक दो’ष से पी’ड़ित जातकों को भी मंगलवार का व्रत रखने से लाभ होता है.

-शनि की म’हादशा, ढै’य्या या सा’ढ़ेसाती की परेशानी को दूर करने के लिए भी यह व्रत बहुत कार’गर माना जाता है.