Categories
News

ज’ब आ’ते है ऐ’से सप’ने तो सम’झ जा’इए आ’ने वा’ला है बहु’त पै’सा, क्या आप’को भी आ’ते है… जा’निए….

धार्मिक खबर

स्व’प्न शा’स्त्र के अनु’सार, स’पनों का मत’लब हो’ता है। स’पने भ’विष्य, वर्त’मान औ’र भूत’काल में हो’ने वा’ली घट’नाओं की ओ’र इशा’रा क’रते हैं। कु’छ स’पने अ’शुभ घट’नाओं को बता’ते हैं तो कु’छ स’पने शु’भ हो’ने का सं’केत क’रते हैं। स्व’प्न शा’स्त्र के अनु’सार ह’म कु’छ ऐ’से स’पने देख’ते हैं जिन’का आ’शय ह’में भवि’ष्य में ध’न मि’लने से हो’ता है। आ’इए जा’नते हैं ऐ’से कौ’नसे स’पने हैं जि’सका संबं’ध ध’न प्रा’प्ति से है। 

ज’ब स’पने में दि’खे गा’य 

स्व’प्न शा’स्त्र के अनु’सार, स’पने में गा’य को देख’ना बेह’द शु’भ हो’ता है। गा’य को अल’ग-अल’ग तर’ह से देख’ने का मत’लब भी अल’ग हो’ता है। अग’र आ’प स’पने में गा’य को दू’ध दे’ते हु’ए देख’ते हैं सु’ख-स’मृद्धि आ’ने वा’ली है तो व’हीं अग’र आ’प चित’कबरी गा’य को दे’खते हैं तो सू’द ब्या’ज के व्यापा’र में ला’भ मिल’ने के सं’केत हो’ते हैं।

ज’ब स’पने में दि’खे नाच’ती हु’ई स्त्री

ज’ब स’पने में दि’खे भ’गवान 

स्व’प्न शा’स्त्र के अनु’सार, अ’गर आ’प सप’ने में भ’गवान के द’र्शन कर’ते हैं तो य’ह बे’हद ही शु’भ हो’ता है। स्व’प्न शा”स्त्र में इ’स सप’ने का मत’लब ये है कि आ’पके ऊ’पर दै’वीय कृ’पा बरस’ने वा’ली है जिससे आ’पको आ’ने वा’ले दि’नों में सु’ख-स’मृद्धि औ’र ध’न की प्रा’प्ति हो’ने वा’ली है।

स’पने में ज’लते हु’ए दी’ये को देख’ना 

सप’ने में जल’ते हु’ए दी’पक को देख’ना अ’ति शु’भ मा’ना जा’ता है। स्व’प्न शा’स्त्र के मुता’बिक य’दि आ’प स’पने में कि’सी ज’लते हु’ए दी’ये को दे’खते हैं तो य’ह सं’केत है कि आ’पको भ’विष्य में प्रचु’र ध’न प्रा’प्ति हो’गी। य’ह सप’ना आ’पके आ’र्थिक जीव’न को सं’पन्न क’र दे’गा।

सप’ने में मछ’ली दे’खना
शा’स्त्रों में मछ’ली को मां ल’क्ष्मी के आ’गमन का सू’चक मा’ना ग’या है। स्व’प्न शा’स्त्र के मुता’बिक अग’र आप’को स’पने में मछ’ली दिखा’ई दे तो ज’ल्दी ही आ’पके ऊ’पर मां ल’क्ष्मी की कृ’पा बर’सने वा’ली है। इ’सी प्र’कार स्व’प्न में आ’प कि’सी वृ’क्ष प’र च’ढ़ र’हें हैं तो आ’पको क’हीं से अचा’नक ध’न प्रा’प्ति हो सक’ती है।